राजनीतिक बयानबाजी में क्यों जुटे हैं पुलिस महानिदेशक: भाजपा

  • राजनीतिक बयानबाजी में क्यों जुटे हैं पुलिस महानिदेशक: भाजपा
You Are HereNational
Tuesday, January 21, 2014-2:16 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उप्र इकाई ने पुलिस महानिदेशक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। भाजपा ने कहा है कि सेवा विस्तार और पुनर्नियुक्ति की जुगाड़ में जुटे राज्य के पुलिस महानिदेशक घटनाओं पर तथ्यात्मक बयान देने के बजाय राजनीतिक बयानबाजी करने में जुटे हुए हैं। प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि पुलिस महानिदेशक ने झांसी में हुए जघन्य हत्याकांड में समाजवादी पार्टी के नेताओं को क्लीन चिट जांच शुरू हुए बगैर ही देने में जरा भी देर नहीं लगाई पर उन्होंने यह नहीं बताया की दोषी कौन है और वह कब तक पकड़े जाएंगे।

पाठक ने कहा कि फरवरी 2014 में सेवानिवृत्त हो रहे पुलिस महानिदेशक रिजवान अहमद का बयान निराशाजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है, जांच जारी है, स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ)लगी हुई है, मौके पर हत्यारों के सुराग तलाशे जा रहे हैं, लेकिन राज्य के आलाधिकारी क्लीनचिट देने में तत्परता दिखाने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि झांसी में हुए जघन्य हत्याकांड में मध्य प्रदेश के बृजेश कुमार तिवारी, उनकी पत्नी और उनके 11 व 14 वर्ष के दो बेटों की कार रुकवा कर हत्या कर दी गई।

पाठक ने कहा झांसी में हुए जघन्य हत्याकांड को लेकर पुलिस महानिदेशक द्वारा दिए गए बयान से लगता है कि पुलिस महकमें के शीर्ष पद पर विराजमान पुलिस महानिदेशक की तत्परता हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी के बजाय हत्यारों के सत्तारूढ़ दल सपा से संबंधों को लेकर क्लीनचिट देने में रही है। भाजपा प्रवक्ता ने झांसी हत्याकाण्ड के दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। उल्लेखनीय है कि झांसी के नवाबाद इलाके में रविवार को एक दंपती और दो बच्चों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस महानिदेशक ने एक बयान देते हुए सपा नेताओं की संल्पितता से साफ  तौर पर इंकार कर दिया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You