Subscribe Now!

सुनंदा की मौत की जांच हत्या और आत्महत्या कोणों से होः SDM

  • सुनंदा की मौत की जांच हत्या और आत्महत्या कोणों से होः SDM
You Are HereNcr
Tuesday, January 21, 2014-9:45 PM

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उनकी मौत के पीछे ‘विषाक्तता’ मुख्य कारण बताए जाने के बाद आज दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया गया कि वह इस रहस्मयी मौत की जांच हत्या और आत्महत्या कोणों से करे। मामले की जांच करने वाले एसडीएम ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विचार करने के बाद यह निर्देश पुलिस को दिया।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि सुनंदा के दोनों हाथों पर दर्जन भर से अधिक चोट के निशान थे। इसके साथ ही उनके बाएं गाल पर मामूली चोट का निशान का भी उल्लेख है। यद्यपि रिपोर्ट में इन चोटों से मौत होने से इनकार किया गया है। पुलिस को दी गई रिपोर्ट में सुनंदा के भाई, पुत्र, थरूर और उनके कर्मचारियों के बयान दर्ज करने वाले एसडीएम ने कहा कि परिवार के किसी भी सदस्य को मौत के पीछे कोई षड्यंत्र होने का संदेह नहीं है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में सुनंदा के शव का पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों ने कहा कि उनकी मौत ‘अचानक और अप्राकृतिक’ थी और  मौत दवा की अधिक खुराक लेने से हुई जिसे दूसरे शब्दों में दवा विषाक्ता कहा जा सकता है। 52 वर्षीय सुनंदा दक्षिणी दिल्ली के होटल में शुक्रवार की रात में मृत मिली थी। उससे एक दिन पहले उनकी पाकिस्तान की एक पत्रकार मेहर तरार से शशि थरूर से कथित प्रसंग को लेकर ट्विटर पर तकरार हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सुनंदा के पेट में कोई भी खाद्य पदार्थ नहीं मिला है। चिकित्सकों का कहना है कि इसका मतलब यह है कि वह खाना नहीं खा रही थीं।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि सुनंदा होटल के जिस कमरे में मृत मिली वहां से अवसाद रोधी दवा एल्प्रोजलेम के दो पत्ते मिले हैं जिसे आमतौर पर एल्प्रैक्स के तौर पर जाना जाता है। एसडीएम ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि सुनंदा की मौत ‘केवल तीन कारणों से हुई होगी, हत्या, आत्महत्या या दुर्घटना’ और पुलिस को उनकी मौत के कारण का पता लगाने के लिए जांच करनी चाहिए। सूत्रों ने कहा कि विषाक्तता किस कारण से हुई और इसमें किस तरह की दवा शामिल थी यह विसरा रिपोर्ट के बाद स्पष्ट होगा।

सूत्रों ने बताया कि विसरा नमूने को पहले ही सीएफएसएल भेजा जा चुका है और उसके विश्लेषण यह बात सामने आएगी कि वह क्या था और उसका कितनी मात्रा में इस्तेमाल हुआ। सूत्रों ने कहा, ‘‘चूंकि मौत का कारण विषाक्तता है और दहेज का कोई आरोप नहीं है, एसडीएम ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वह मामले की विस्तृत जांच करे और कानून के मुताबिक कार्रवाई करे।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You