वाह री UP पुलिस, 8 साल का मासूम भी ‘गुंडा’!

  • वाह री UP पुलिस, 8 साल का मासूम भी  ‘गुंडा’!
You Are HereNational
Wednesday, January 22, 2014-8:48 AM

कानपुर: उत्तर प्रदेश पुलिस का भगवान ही मालिक है, जिस पुलिस को नाबालिग से खतरा पैदा हो जाए तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पुलिस कितनी असंवेदनशील है। चौंकिए मत, कानपुर की चौबेपुर पुलिस ने एक मामूली मामले में आठ साल के मासूम को कथित तौर पर गुंडा करार दिया है। एक नाबालिग पर कानपुर जिले की चौबेपुर पुलिस इस कदर आग बबूला हो गई कि उसे गुंडा साबित करने पर जुट गई है।

मामला चौबेपुर थाने के तमसहा गांव का है, यहां रामवीर व उसके पड़ोसी कारी के बच्चों के बीच रविवार को मारपीट की घटना हुई थी, जिसकी शिकायत पीड़ित ने चौबेपुर पुलिस से कर दी। पुलिस ने आव न देखा ताव और रामवीर के आठ साल के बेटे दिनेश के खिलाफ मिनी गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई कर दी।

इस खबर पर रामवीर जब अपने बेटे को लेकर मंगलवार को उपजिला अधिकारी (एसडीएम) की अदालत में हाजिर हुआ तो पीठासीन अधिकारी भी आवाक रह गए। अधिकारी ने बच्चे को देख कर पुलिस से स्पष्टीकरण मांगा है। चौबेपुर के उप जिला अधिकारी हंसराज ने आईएएनएस को बताया कि चौबेपुर पुलिस से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है। उधर, थानाध्यक्ष का कहना है कि शिकायतकर्ता ने आरोपी की उम्र का उल्लेख नहीं किया था, इसलिए यह गलती हो गई है। अब सवाल यह है कि उत्तर प्रदेश की पुलिस क्या आंख मूंदकर काम कर रही है या उसे नाबालिग को भी गुंडा करार देने में कोई गुरेज नहीं है?


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You