पुलिस से खफा क्यों है दिल्ली

  • पुलिस से खफा क्यों है दिल्ली
You Are HereNcr
Wednesday, January 22, 2014-2:16 PM

नई दिल्ली (कुमार गजेन्द्र): दिल्ली पुलिस से आखिर लोग इतने खफा क्यों है? केजरीवाल के धरने में शामिल होने आए लोगों से मिल कर यह सवाल अपने आप खड़ा हो जाता है। पुलिस दिल्ली की जनता को सुरक्षा देने की बात करती है लेकिन लोग हैं कि पुलिस को देखते ही गालियां देने लगते हैं।

रेल भवन पर चल रहे केजरीवाल के धरने में शामिल होने आई रजनी ने बताया कि पुलिस अगर सुधर जाए तो आधा सिस्टम खुद ही ठीक हो जाएगा। पुलिस रिश्वत लेना बंद कर दे तो गरीब आदमी को शोषण बंद हो जाएगा। पुलिस की आदत में शुमार जा चुका है कि किसी भी तरह लोगों से पैसा वसूल किया जाए।

उन्होंने बताया कि पुलिस ग्रास रूट पर काम करती है और हमेशा आम लोगों के टच में रहती है। पुलिस के बीट अफसर को रिश्वत दिए बिना कोई पटरी पर रेहड़ी नहीं लगा सकता। सब्जी वाले से लेकर कबाड़ी तक सबसे पुलिस वसूली करती है। रिश्वत न मिलने पर कोई जायज काम तक नहीं कर सकता।

दिल्ली पुलिस के कंप्लैंट सैल के आकंड़ों की मानें तो पिछले साल दिल्ली पुलिस को 11836 शिकायतें मिली थीं। इन शिकायतों के आधार पर 2256 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हुई थी। इनमें 158 पर विजीलैंस जांच, 1158 को सो कॉज नोटिस, 446 पुलिस वालों को निलंबित किया गया था और 794 पर विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी किए गए थे।

इन आंकड़ों से पता चलता है कि पुलिस आम आदमी के लिए सबसे ज्यादा परेशानियां पैदा करती है। घर में ईंट लगाने से लेकर बोरिंग करवाने और गंभीर से गंभीर मामलों को भी रफा-दफा करने के लिए पुलिस मशहूर हो चुकी है। यही कारण है कि आम आदमी पुलिस के नाम से ही चिढ़ता है। इसके अलावा पुलिसकर्मियों का आम आदमी के साथ रूखा और हड़काने वाला व्यवहार भी कहीं न कहीं लोगों की नफरत का मुख्य कारण है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You