नशीले पदार्थों की तस्करी में नेपाली व नाइजीरियन आगे

  • नशीले पदार्थों की तस्करी में नेपाली व नाइजीरियन आगे
You Are HereNational
Thursday, January 23, 2014-12:59 AM

नई दिल्ली : युगांडा की महिला के दिल्ली में कथित तौर पर मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त रहने के आरोपों के बीच केंद्रीय मादक पदार्थ रोधी एजैंसियों के अनुसार देश में मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में सबसे ज्यादा नेपाली नागरिक और उसके बाद नाइजीनियाई नागरिक गिरफ्तार किए गए हैं।

मादक पदार्थ और नशीले द्रव्य (एन.डी.पी.एस.) कानून के तहत वर्ष 2012 में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो एन.सी.बी. ने 72 नेपाली, 67 नाइजीरियाई, म्यांमार के 26 नागरिक मादक पदार्थों के अवैध व्यापार में गिरफ्तार किए थे। 

युगांडा के केवल 2 और दक्षिण अफ्रीका के 3 नागरिक समान अवधि में देश में इस कानून के तहत गिरफ्तार किए गए हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाली मादक पदार्थों के विरुद्ध काम करने वाली केंद्रीय एजैंसी एन.सी.बी. के ताजा आंकड़ों में यह जानकारी दी गई।

अधिकारियों ने कहा कि यह प्रतिनिधिक आंकड़ों के अंदर नहीं माने जा सकते क्योंकि मादक द्रव्यों का परिवहन वाले कई मामले दर्ज नहीं हो पाते तथा कई मामले एन.डी.पी.एस.एक्ट एवं उच्च न्यायालयों में लंबी कानूनी लड़ाई में उलझे हैं।

आधिकारिक रिपोर्ट देश में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी की प्रवृत्ति बताती है। जिसमें मादक पदार्थो के परिवहन और वितरण नेटवर्क में अलग-अलग विदेशी नागरिक संलग्न हैं। रिपोर्ट के अनुसार गिरफ्तार नाइजीरियाई लोगों में से अधिकांश हेरोइन और कोकेन की तस्करी में लिप्त थे, जबकि  इसरायल और नेपाली नागरिक हशीश के व्यवसाय में पकड़े गए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You