मौलिक नहीं था नरेंद्र मोदी का भाषण: मनीष तिवारी

  • मौलिक नहीं था नरेंद्र मोदी का भाषण: मनीष तिवारी
You Are HereNational
Friday, January 24, 2014-12:39 AM

नई दिल्ली: भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के भाषण को ‘‘मौलिक नहीं’’ करार देते हुए केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने आज उन पर निशाना साधा। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की एक रैली में कांग्रेस पर निशाना साधने वाले मोदी के भाषण के बारे में तिवारी ने कहा कि उनके भाषण का सबसे ‘दिलचस्प हिस्सा’ यह था कि ‘वाक्चातुर्य भी मौलिक’ नहीं था।

तिवारी ने कहा कि 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने 4 महीने बनाम 40 साल का नारा दिया था। केंद्रीय मंत्री ने कहा, और अब, 23 साल बाद, गुजरात के मुख्यमंत्री उन्हीं पंक्तियों को दोहरा रहे हैं, 60 महीने बनाम 60 साल। बात यह है कि यदि आप राजनीति में हैं तो आपको उधार ली हुई उन पंक्तियों की बजाय कम से कम अपनी मौलिक पंक्तियों के साथ आना चाहिए जिन्हें लोगों ने खारिज कर दिया है।

तिवारी ने कहा कि विपक्षी पार्टी को जरा यह सोचकर देखना चाहिए कि देश कांग्रेस को 60 साल देने के लिए क्यों तैयार है और ‘‘भाजपा को 6 महीने भी देने को क्यों नहीं तैयार है। कांग्रेस नेता ने इस दावे के लिए भी मोदी की आलोचना की कि गुजरात में ट्रेन दाखिल होने पर मुसाफिर ज्यादा महफूज महसूस करते हैं। उन्होंने कहा कि देश अब भी उस घटना को नहीं भूला है जिसमें ट्रेन अयोध्या से चली थी और गुजरात पहुंची थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You