सुनंदा मामला: चोट की वजह पता लगाने के लिए होगी फोरेंसिक जांच

  • सुनंदा मामला: चोट की वजह पता लगाने के लिए होगी फोरेंसिक जांच
You Are HereNational
Friday, January 24, 2014-11:51 PM

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की रहस्मय परिस्थिति में हुई मौत के मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने सुनंदा के शरीर पर चोट की वजह का पता लगाने के लिए आधुनिक फोरेंसिक जांच कराएगी। जांच अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सुनंदा के शरीर पर एक दर्जन से अधिक चोट के निशान होने की बात की गई है। बांई हथेली पर दांत से काटे जाने का निशान भी था।

उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों ने सुनंदा के शरीर के उन स्थानों की त्वचा के नमूनें सुरक्षित रखें जहां चोट के निशान थे तथा चोट के कारण का पता लगाने के लिए आधुनिक फोरेंसिक जांच कराई जाएगी। बीते 17 जनवरी को दक्षिणी दिल्ली के एक पंचसितारा होटल में 52 साल की सुनंदा का शव बरामद किया गया है। मौत से पहले ट्विटर पर सुनंदा और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच तीखी तकरार हुई थी। शशि और महर के बीच कथित संबंध को लेकर दोनों के बीच यह स्थिति पैदा हुई थी।

सुनंदा की मौत की जांच कर रहे एसडीएम ने मंगलवार को पुलिस को निर्देश दिया था कि हत्या या आत्महत्या पहलू से मामले की जांच करें। इसके पहले पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उनकी मौत की वजह के रूप में ‘जहर’ का जिक्र किया गया था। पुलिस ने कहा कि मामले की ‘संवेदनशील प्रकृति’ और ‘जटिलताओं’ को देखते को कल इस मामले को अपराध शाखा को स्थानांतरित किया गया है। फोरेंसिक विशेषज्ञों का कहना है कि सुनंदा के शरीर पर चोट उनके द्वारा खुद पहुंचाए गए या कोई और कारण था, यह ‘हिस्टोपैथोलॉजी’ जांच के बाद हो सकेगा। वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि सीएफएसएल से टॉक्सीकोलॉजी रिपोर्ट आने की प्रतीक्षा की जा रही है। इस रिपोर्ट से पता चल सकेगा कि किस तरह के जहर से सुनंदा की मौत हुई।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You