निगमायुक्त के बचाव में आए अन्ना हजारे

  • निगमायुक्त के बचाव में आए अन्ना हजारे
You Are HereNational
Saturday, January 25, 2014-10:32 AM

मुंबई: समाजसेवी अन्ना हजारे आज खुलकर पिंपरी-चिंचवाड़ के निगमायुक्त श्रीकर परदेशी के समर्थन में आ गए । खबरों के मुताबिक श्रीकर का तबादला कर दिया गया है। अन्ना यह कहते हुए श्रीकर के समर्थन में आए हैं कि यदि सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई करती है तो वह इस मुद्दे पर जनांदोलन की अगुवाई करेंगे।
 
अन्ना ने आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को पत्र लिखकर चेतावनी दी कि यदि श्रीकर का तबादला नहीं रोका गया तो वह इस मुद्दे पर जनांदोलन की अगुवाई करेंगेनागरिक संगठनों का दावा है कि विभिन्न निहित स्वार्थ वाले तत्व श्रीकर का तबादला कराने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने अनधिकृत निर्माणों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है।

चव्हाण को लिखे गए पत्र में अन्ना ने कहा, ‘‘श्रीकर परदेशी एक दक्ष एवं निष्ठावान अधिकारी हैं। पिंपरी-चिंचवाड़ और पुणे के नागरिक संगठनों ने इस मुद्दे पर मुझसे मुलाकात की । परदेशी के तबादले की खबरों पर लोगों में गुस्सा और बेचैनी है ।’’अन्ना ने लिखा कि श्रीकर के खिलाफ एक भी शिकायत नहीं हैं और निगमायुक्त के तौर पर उन्हें अपना कार्यकाल पूरा करना बाकी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You