जयराम रमेश ने दी मोदी के विकास के दावों को चुनौती

  • जयराम रमेश ने दी मोदी के विकास के दावों को चुनौती
You Are HereNational
Saturday, January 25, 2014-10:43 AM

पटना: केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने नरेंद्र मोदी के विकास के दावों को चुनौती देते हुए पूछा कि गुजरात के मुख्यमंत्री ने अपनी ही पार्टी के सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता वाली समिति की वस्तु और सेवा कर प्रणाली (जीएसटी) की सिफारिश में अवरोध क्यों पैदा किया। रमेश ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘विकास का प्रचार करने और प्रधानमंत्री बनने पर तूफानी विकास के सभी दावों को तो भूल जाइए, मैं तो एक सामान्य सा प्रश्न नरेंद्र मोदी से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने जीएसटी में अवरोध क्यों पैदा किया जिसकी सिफारिश उनकी पार्टी के नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इसकी समिति के अध्यक्ष के तौर पर की थी।’’  केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘जीएसटी का विचार सबसे पहले तत्कालीन वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने दिया और उसके लिए सुशील मोदी ने अथक प्रयास किये। वह बन सकता था लेकिन प्रधानमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी इस महत्वपूर्ण विधेयक मेें सबसे बड़े अवरोधक रहे।’’ नरेंद्र मोदी के लिए प्रचलित शब्द ‘नमो’ और सुशील मोदी को मीडिया द्वारा दिये गये नाम ‘सूमो’ से संबोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने कहा, ‘‘क्या नमो ने सूमो के प्रयासों को बाधित नहीं किया?’’

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी समझे जाने वाले रमेश ने चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों के नतीजों को खारिज कर दिया जिनमें कांग्रेस के लिए कम सीटों का आकलन किया गया है और भाजपा को मजबूत दिखाया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘2004 और 2009 में भ्रमेश मोदीाी इस तरह के सर्वेक्षण गलत रहे थे और कांगे्रस नीत संप्रग सत्ता में आई थी।’’ रमेश को झारखंड का ‘सुपर मुख्यमंत्री’ कहे जाने के संबंध में एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘मैं झारखंड में केवल समन्वय समिति का एक सदस्य हूं और मैं जो 10 सुझाव देता हूं, उनमें से 5 या 6 से ज्यादा स्वीकार नहीं किये जाते।’’आम आदमी पार्टी के बारे में एक सवाल पर उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल की पिछले दो हफ्ते की गतिविधियों से साफ हो गया है कि वे आंदोलन करने में कुशल हैं लेकिन प्रशासन में नहीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You