‘बीवी पिटाई सह सकती है, चरित्र पर संदेह नहीं’

  • ‘बीवी पिटाई सह सकती है, चरित्र पर संदेह नहीं’
You Are HereNational
Sunday, January 26, 2014-1:17 AM
नई दिल्ली (मनीषा खत्री): एक महिला अपने पति की मार को सह सकती है लेकिन बार-बार कोई उसके चरित्र पर उंगली उठाए यह उसके लिए असहनीय होता है। ऐेसे में वह अपना जीवन खत्म करने तक का कदम उठा लेती है। 
 
यह टिप्पणी करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने एक आरोपी पति को दहेज हत्या के मामले में तो बरी कर दिया है, परंतु उसे दहेज प्रताडऩा व आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में दोषी पाया है। जिसके बाद उसे 5 साल कैद की सजा दी है। न्यायमूर्ति वी.के. जैन ने इस मामले में आरोपी ससुर साहिब सिंह, सास राजरानी, ननद मंजू, ननदोई रवींद्र व जेठ सुनील को सुबूतों के अभाव में बरी कर दिया है।
 
न्यायालय ने आरोपी पति रमेश को इस मामले में दोषी करार देते हुए कहा कि तमाम तथ्यों से यह जाहिर हो रहा है कि वह अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था। उसे लगता था कि वह उसे पसंद नहीं करती है और किसी विक्की नाम के लड़के से प्यार करती है। इस बात पर उनके बीच कई बार झगड़ा हुआ और उसने अपनी पत्नी की पिटाई भी की। ऐसा कई बार किया गया।
 
शायद शुरू में उसकी पत्नी को लगा होगा कि समय के साथ सब ठीक हो जाएगा लेकिन जब यह सब नहीं बदला तो वह इस तरह का कदम उठाने को मजबूर हो गई। एक महिला अपने पति की पिटाई सह सकती है परंतु कोई बार-बार उसके चरित्र पर संदेह करे, यह उसके लिए सहना मुश्किल है। खासतौर पर जब सिर्फ संदेह न किया जा रहा हो बल्कि उसकी पिटाई भी की जाती हो, ऐसे में वह यह सब कब तक सहती। ऐसे में साफ जाहिर है कि उसकी मौत के लिए आरोपी रमेश ही जिम्मेदार है। 
 
निचली अदालत ने रमेश व उसके परिजनों को दहेज प्रताडऩा व दहेज हत्या के मामले में दोषी करार दिया था। जिसे उन्होंने उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी।पुलिस के अनुसार 6 नवम्बर 2009 को प्रियंका को जहर खाने के चलते रोहिणी के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 
कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में प्रियंका के पिता ने अलीपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। उसका कहना था कि अप्रैल 2007 में प्रियंका की शादी रमेश से हुई थी। 
 
शादी के कुछ समय बाद से ही उसकी बेटी से मारपीट शुरू कर दी गई थी। एक बार उसकी नाक की हड्डी तोड़ दी गई थी। जिसका ऑप्रैशन कराना पड़ा था। उस पर बार-बार पैसे लाने का दबाव बनाया जा रहा था। घटना वाले दिन भी उसने फोन पर बताया था कि उसके साथ मारपीट की गई है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You