भारत में बढ़ रहा है बेरोजगारी का स्तर

  • भारत में बढ़ रहा है बेरोजगारी का स्तर
You Are HereNcr
Monday, January 27, 2014-2:12 PM

नई दिल्ली: आर्थिक नरमी एवं कारोबारी विस्तार की गतिविधियां धीमी रहने से रोजगार की संभावनाएं भी कम हो रही हैं। शायद यही वजह है कि भारत में बेरोगारों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले दो साल में भारत में बेरोजगारी बढऩे के आसार बढ़े हैं। अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन के ताजा अनुमानों को लें, तो इस साल भारत की बेरोजगारी दर 3.8 प्रतिशत तक रह सकती है।

महिंद्रा समूह की कंपनी ब्रिस्टलकोन की उपाध्यक्ष रितु मेहरोत्रा का कहना है कि लोगों के शहरों की ओर पलायन करने की वजह से ग्रामीण इलाकों में भी बेरोजगारी की दर में तेज बढ़ोतरी दर्ज की गई है। सरकार को कौशल विकास के क्षेत्र में तेजी लानी चाहिए और कुशल कामगारों की मांग एवं आपूर्ति के बीच अंतर पाटने का प्रयास करना चाहिए।

वहीं आईएलओ की रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिण एशिया में अनौपचारिक कृषि रोजगार की उंची दरों के चलते श्रम बाजार लगातार प्रभावित हो रहा है। अनौपचारिक कृषि रोजगार में काम के लिए लोगों को बहुत कम भुगतान किया जाता है। भारत में बेरोजगारी की दर में 2011 से बढ़ोतरी हो रही है। वर्ष 2011 में यह 3.5 प्रतिशत थी, जो 2012 में बढ़कर 3.6 प्रतिशत और पिछले साल यह 3.7 प्रतिशत पर पहुंच गई। इस साल बेरोजगारी दर बढ़कर 3.8 प्रतिशत पहुंचने की संभावना है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You