Subscribe Now!

‘चाय बेचने का मोदी का दावा वोट हासिल करने का तरीका’

  • ‘चाय बेचने का मोदी का दावा वोट हासिल करने का तरीका’
You Are HereNational
Wednesday, January 29, 2014-8:14 AM

भुवनेश्वर: नरेंद्र मोदी को पूंजीवादियों को बढ़ावा देने वाला बताते हुए माकपा पोलितब्यूरो की सदस्य बृंदा करात ने कहा कि प्रधानमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार का चाय बेचने का दावा गरीब लोगों के वोट हासिल करने के मकसद से किया जा रहा है। बृंदा करात ने यहां आदिवासियों की रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मोदी कम से कम 10 साल से गुजरात के मुख्यमंत्री हैं। हमने कभी नहीं सुना था कि वह चाय बेचते थे। प्रधानमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर पेशकश के बाद से वह चाय बेचने वाला होने का दावा कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि मोदी जहां गरीबों के बीच में से उठने का दावा करते हैं वहीं गुजरात में चाय की दुकानों को गिराकर कॉर्पोरेट घरानों के लिए जगह बनाने में भी उनकी अहम भूमिका रही है।

गुजरात में चाय बेचने वालों के सामाजिक-आर्थिक विकास की एक भी नीति नहीं है जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री उनमें से ही एक होने का दावा करते हैं।  माकपा नेता ने आरोप लगाया, ‘‘मोदी केवल लोगों को गुमराह करने के लिए यह सब कर रहे हंैं।’’ बृंदा ने आदिवासियों को कांग्रेस और भाजपा में से किसी पर भी भरोसा नहीं करने का सुझाव देते हुए कहा, ‘‘लोग दोनों राष्ट्रीय दलों से आजिज आ गये हैं क्योंकि उनकी नीति समान है। लोग अब विकास के लिए वैकल्पिक नीति चाहते हैं।’’  प्रस्तावित तीसरे मोर्चे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘हम केवल वैकल्पिक नीतियों की बात कर रहे हैं, किसी तीसरे मोर्चे की नहीं।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You