1984 के दंगों की हो SIT जांच: AAP

  • 1984 के दंगों की हो SIT जांच: AAP
You Are HereNcr
Wednesday, January 29, 2014-6:30 PM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप), अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को दिल्ली में 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों की विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच कराने की मांग की है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा 84 के दंगों में कुछ पार्टी सदस्यों की संलिप्तता स्वीकार करने के बाद यह मांग की गई है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार सुबह उपराज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात की तथा दंगों की एसआईटी द्वारा जांच कराने की मांग करते हुए अपना निवेदन सौंपा। एक अधिकारी ने बताया, ‘‘बैठक करीब आधा घंटे चली। उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री के निवेदन पर विचार करने तथा प्रधानमंत्री को इससे अवगत कराने का आश्वासन दिया।’’

मुख्यमंत्री अरविंद ने बैठक के बाद मीडिया से कहा कि उनकी पार्टी ने चुनाव से पहले अपने घोषणापत्र में 84 के दंगों की एसआईटी से जांच कराने की मांग करने का वादा किया था, और वह अपना वादा पूरा कर रहे हैं।

दूसरी ओर, हर्षवर्धन के नेतृत्व में भाजपा ने भी बुधवार को अपराह्न उपराज्यपाल से मुलाकात की। उपराज्यपाल से मिलने के बाद हर्षवर्धन ने मीडिया से कहा, ‘‘हम 1984 के दंगा पीड़ितों के लिए न्याय चाहते हैं, तथा दंगों की एसआईटी से जांच करवाए जाने की मांग कर रहे हैं।’’ भाजपा ने आप सरकार के कानून मंत्री सोमनाथ भारती के इस्तीफे की मांग भी की।

दूसरी ओर अकाली दल के प्रदेशाध्यक्ष मंजीत सिंह जी. के. ने पत्रकारों से कहा कि अब जब राहुल गांधी ने दंगों में कांग्रेस सदस्यों की संलिप्तता स्वीकार कर ली है, तो उन्हें उनके खिलाफ कार्रवाई भी करनी चाहिए।

मंजीत सिंह ने आगे कहा, ‘‘हम इस मामले में माफी नहीं बल्कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई चाहते हैं। हम एसआईटी से इसकी जांच कराए जाने की मांग करते हैं।’’ उन्होंने आगे कहा कि गुरुवार सुबह वे 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर धरना देंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You