यूपी: सांप्रदायिक हिंसा में 683 आरोपियों में से सिर्फ 240 गिरफ्तार

  • यूपी: सांप्रदायिक हिंसा में 683 आरोपियों में से सिर्फ 240 गिरफ्तार
You Are HereNational
Wednesday, January 29, 2014-1:21 PM

मुजफ्फरनगर: सांप्रदायिक हिंसा में कुल 534 अभियोग पंजीकृत किये गये, जिसमें 6261 व्यक्ति नामजद थे। वर्तमान में विवेचना के दौरान 162 अभियुक्तों के नाम और प्रकाश में आया। इस प्रकार कुल अभियुक्तों की संख्या 6423 चिन्हित की गई। उक्त अभियुक्तों में से अब तक हुई विवेचना में 683 अभियुक्त सही पाये गये जिसमें से 240 अभियुक्त गिरफ्तार कर जेल भेजे गये। इनमें से 46 अभियुक्त हाजिर अदालत आये एवं 11 अभियुक्त मृत पाये गये। विशेष जांच प्रकोष्ठ द्वारा 197 अभियुक्तों के विरूद्ध वॉरट लिये गये है। 07 अभियुक्तों के विरूद्ध धारा 82 के अन्तर्गत कुर्की की कार्यवाही प्रारम्भ की गई है जिन प्रकरणों में विवेचना समाप्त हो गई है, उनमें 22 प्रकरणों में आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित किया जा चुका है एवं 08 प्रकरणों में अन्तिम रिपोर्ट न्यायालय में प्रेषित की जा चुकी है।

न्यायालय द्वारा मुकदमें के दौरान 48 मुकदमें साक्ष्य के अभाव में खारिज किये गये। शेष प्रकरणों में विशेष जांच प्रकोष्ठ द्वारा विवचेना की कार्यवाही वर्तमान में प्रचलित है। यह जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिनारायण सिंह ने दी। सांप्रदायिक हिंसा के बाद विस्थापित परिवारों को व्यवस्थित करने के लिए जिला प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा हैं। इनकी समीक्षा करने के लिए राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की टीम ने विकास भवन सभी आला अधिकारियों के साथ बैठक की। आयोग के अध्यक्ष वजाहज हबीबुल्ला व के एन दारूवाला, डा0 अजैब सिंह,  शानू, फरीदा अबदुल्ला खान, कुमारी मेबल रिबेलो, कैप्टन प्रवीन डावर तथा मा0 आयोग के सचिव सुरजीत चौधरी ने जनपद मुजफ्फ रनगर का दौरा कर विकास भवन सभागार में जिला प्रशासन से अपेक्षित बिन्दुओं पर किये गये कार्यो का ब्यौरा हासिल किया।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You