कांग्रेस ने मुसलमानों को हमेशा वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया: मुलायम

  • कांग्रेस ने मुसलमानों को हमेशा वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया: मुलायम
You Are HereNational
Wednesday, January 29, 2014-1:55 PM

लखनऊ: समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कांग्रेस को दोहरे चरित्र वाली पार्टी बताते हुए कहा है कि इसकी कथनी और करनी में काफी फर्क है। उन्होंने कहा है कि आज की तारीख में कांग्रेस डूबता हुआ जहाज है। धोखा देने वालों का यही हश्र होता है। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि कांग्रेस ने दलितों और मुसलमानों को हमेशा वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया।  प्रख्यात समाजवादी चिन्तक दिवंगत बृजभूषण तिवारी पर एक किताब में लिखे अपने आलेख में यादव ने कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया है।

पत्रकार राधेकृष्ण द्वारा लिखित पुस्तक में सपा अध्यक्ष ने कहा कांग्रेस की सरकार उन्होंने उस समय बचायी थी जब केन्द्र में उसकी सरकार को गंभीर खतरा था लेकिन कांग्रेस ने उनका शुक्रिया अदा करने के बजाय उन्हें कमजोर करने की साजिश रची। कांग्रेस ने कई मौको पर उन्हें अंधेरे में रखा। जब उन्होंने कांग्रेस की मदद करने का फैसला किया था तो उनसे कई शुभचिंतकों ने अपने फैसले पर पुनॢवचार करने का आग्रह किया था। ब्रज भूषण तिवारी ने आगाह किया था कि कांग्रेस पर ज्यादा भरोसा न करें क्योंकि यह पार्टी भरोसे के लायक नहीं है।

यादव ने बृजभूषण तिवारी को अपनी श्रद्धांजलि अॢपत करते हुए उनके संघर्षो के बारे में विस्तार से चर्चा की है। पुस्तक के दूसरे चरण में उनके चुनिंदा लेखों, भाषणों और साक्षात्कारों को शामिल किया गया है। तीसरे खंड में सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी, सीपीआई नेता सीताराम येचुरी, भाजपा नेता कलराज मिश्र, सपा महासचिव प्रोफेसर राम गोपाल यादव, किरनमयनन्दा. जया बच्चन. प्रोफेसर निशीथ राय समेत साहित्य. राजनीति और शिक्षा जगत से जुड़े 35 लोगों ने दिवंगत तिवारी के बारे में अपने विचार और संस्मरण लिखे हैं।

कांग्रेस खुद को मुसलमानों की सबसे बड़ी हितैषी बताती है लेकिन सच्चाई इसके ठीक उलट है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अगर सचमुच मुसलमानों की हितैषी है तो उसे तुरन्त सच्चर कमेटी की सिफारिशों को लागू करना चाहिए। यूपीए सरकार के कामकाज से देश की जनता में बहुत गुस्सा है। एक के बाद एक बड़े बड़े घोटाले सामने आ रहे हैं लेकिन सरकार चुप्पी साधकर बैठी हुई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You