6 माह से मां-बेटी गायब, केस दर्ज नहीं

  • 6 माह से मां-बेटी गायब, केस दर्ज नहीं
You Are HereNational
Thursday, January 30, 2014-12:23 AM

नई दिल्ली (कुमार गजेन्द्र):  दिल्ली पुलिस महिला अपराधों के मामले में कितना गंभीरता दिखाती है, इसका जीता जागता उदाहरण है, पहांडगंज से गायब हुई एक महिला और उसकी बेटी। मां बेटी को गायब हुए करीब छह माह हो चुके हैं, लेकिन पुलिस ने अभी तक इस मामले में एफआईआर तक दर्ज करना गवांरा नहीं समझा है।

पुलिस की इस ज्यादादती की शिकायत हार कर महिला के पति ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से की है। मुख्यमंत्री ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दी गई शिकायत के मुताबिक सुरेन्द्र शर्मा पहाडग़ंज के मुल्तानी ढांडा इलाके में परिवार के साथ रहते हैं।

19 अगस्त 2013 को उनकी पत्नी सुषमा अपनी 14 साल की बेटी के  डाक्टर के पास जाने की बात कहकर निकली थी। लेकिन वापस नहीं लौटी। इसके बाद सुरेन्द्र शर्मा ने इस बात की लिखित शिकायत नबी करीब थाने में की। पुलिस ने शिकायत पर ही मोहर मारकर उन्हें वापस भेज दिया। सुरेन्द्र का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में उनकी कोई मदद नहीं की।

हर बार पुलिस ने उन्हें समझा बुझाकर टरका दिया। उन्होंने कुछ लोगों पर शक भी जाहिर किया था, लेकिन पुलिस ने उनसे भी पूछताछ नहीं की। वह तभी से अपने 10 साल के बेटे को लेकर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। हार कर उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से इस मामले में हस्तक्षेप कर उनकी मदद करने की मांग की है। 

उधर नबी करीम पुलिस का कहना है कि पीड़ित ने अपनी शिकायत में जिन लोगों के नाम लिए थे उन्होंने सबसे पूछताछ की है। उन्होंने पीड़ित के कहने पर सुरेन्द्र की पत्नी सुषमा की  मां और उसके पिता से भी इस बारे में पूछताछ की है। पुलिस का कहना है कि मामले में जांच चल रही है। सीएम आफिस की ओर से भी पुलिस को मां बेटी की तलाश करने के आदेश दिए गए हैं।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You