तीनों निगमों ने सी.एम से मांगे 1700 करोड़

  • तीनों निगमों ने सी.एम से मांगे 1700 करोड़
You Are HereNational
Thursday, January 30, 2014-12:31 AM
नई दिल्ली : एक ओर दिल्ली की नव गठित आम आदमी पार्टी की सरकार तथा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास प्रतिदिन दिल्ली के नागरिकों या अन्य लोग अपनी मांगों को लेकर पहुंच रहे हैं और सभी को कोई न कोई आश्वासन मिल रहा है, ऐसे में दिल्ली के तीनों नगर निगमों उत्तरी, दक्षिणी व पूर्वी में सत्तारूढ़ दल भाजपा के नेताओं ने महापौर की अगुवाई में निगमों को आॢथक बदहाली से उबारनेके लिए मुख्यमंत्री से 1700 करोड़ रुपए की अनुदान राशि मांगी है। वहीं दूसरी ओर निगमों में विपक्ष के नेता मुकेश गोयल आदि ने कांग्रेसी पार्षदों ने भी निगम के मामले में उचित निर्णय लेने की अपील की है।
 
मुख्यमंत्री सेमिलने वाले निगमों के प्रतिनिधि मंडल में महापौर आजाद सिंह, सरिता चौधरी व राम नारायण दूबे, स्थायी समितियों के अध्यक्षों तथा सदनों के नेता मीरा अग्रवाल, सुभाष आर्य व बी.बी. त्यागी शामिल थे। सदन के नेता सुभाष आर्य ने बताया कि आज वे लोग मुख्यमंत्री के साथ अपनी समस्याओं, मुद्दों व योजनाओं के बारे में चर्चा की। 
 
उन्होंने कहा कि अब तक निगम की ओर से मुख्यमंत्री को सात पत्र लिखे जा चुके हैं, जिसमें दिल्ली सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि तथा अनुबंधकर्मी को नियमित करने के संबंध में चर्चा की थी लेकिन सरकार ने ध्यान नहीं दिया। आर्य के अनुसार उन्होंने जिन मुद्दों को मुयमंत्री के समक्ष उठाया, उनमें अप्रैल 2012 को 3 निगम बनाते वक्त1767 करोड़ रुपए का लोन था।
 
शिक्षा पर 70 प्रतिशत अनुदान राशि मिला करता था, 2008-09 के बाद 56 प्रतिशत पर आ गया। ग्लोबल शेयर 5.5 प्रतिशत तय किया गया था लेकिन निगम को 4 प्रतिशत  मिलता है। 1.5 प्रतिशत राशि परफार्मैंस के साथ जोड़ दिया गया जो हमें नहीं मिला, जबकि अब  शिक्षा पर 100 प्रतिशत अनुदान होनी चाहिए। छठे पे कमीशन के बादन निगम को काफी परेशानी हो रही है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You