शिवानंद को पार्टी फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए थी: जदयू

  • शिवानंद को पार्टी फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए थी: जदयू
You Are HereNational
Friday, January 31, 2014-10:16 AM

पटना: जदयू के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी के राज्यसभा का पुन: उम्मीदवार नहीं बनाए जाने पर उनके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ टिप्पणी करने पर जदयू ने आज कहा कि उन्हें अपनी बात पार्टी के भीतर उपयुक्त फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए थी। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह को पत्र लिखकर शिवानंद ने नीतीश की आलोचना करते हुए जदयू के टिकट पर चुनाव नहीं लडने की बात कही थी और उक्त पत्र को मीडिया में भी जारी कर दिया था।

सिंह ने आज पत्रकारों से बात करते हुए शिवानंद के अपने पत्र में अनावश्यक बातें लिखे जाने तथा उसे मीडिया में जारी किए जाने को गलत बताया और नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि शिवानंद को यह नहीं भूलना चाहिए कि उनके द्वारा कई विवादास्पद बयान दिए जाने के बावजूद नीतीश ने उन्हें राज्यसभा भेजा था और पूर्व में दो बार लोकसभा चुनाव लडने का भी मौका दिया।

शिवानंद द्वारा पार्टी नेतृत्व के खिलाफ हमले पर कोई टिप्पणी करने से बचते हुए सिंह ने कहा कि ऐसे समय में जब उनकी राज्यसभा की सदस्यता समाप्त होने वाली है तब पार्टी उनके खिलाफ कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की इच्छा नहीं रखती है। लेकिन आलोचना की भी कोई सीमा होती है और उनका पार्टी नेतृत्व के खिलाफ बयानबाजी का सिलसिला बर्दाश्त के बाहर होने पर उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इससे पूर्व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिवानंद के उक्त पत्र के बारे में कहा था वे नहीं समझते कि इस पर कोई प्रतिक्रिया की आवश्यकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You