आखिर डी.एच.ए. पर मेहरबान क्यों है निगम

  • आखिर डी.एच.ए. पर मेहरबान क्यों है निगम
You Are HereNcr
Friday, January 31, 2014-1:08 PM

नई दिल्ली (सज्जन चौधरी): उत्तरी दिल्ली नगर निगम की निदेशक अस्पताल प्रशासन की फर्जी डिग्री पाए जाने तथा डॉक्टरों की लिखित शिकायत के बाद भी अब तक कार्रवाई न होने पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। आखिर अधिकारियों ने फर्जी डिग्री पाए जाने के बाद भी इस मामले में कार्रवाई क्यों नहीं हुई, जबकि इसी प्रकार के एक मामले में हरियाणा सरकार ने पंचकुला के जल विभाग में फर्जी डिग्री से पदोन्नत हुए 5 इंजीनियरों को रिवर्ट कर दिया था।

पंचकुला के इंजीनियरों की डिग्री ऑल इंडिया काऊंसिल फॉर टैक्निकल एजुकेशन से एपू्रव नहीं थी। यहीं नहीं हुड्डा सरकार ने रिवर्ट किए गए सभी अधिकारियों को दिए गए बैनिफिट्स वापस ले लिए थे। वहीं दूसरी तरफ  उत्तरी दिल्ली नगर निगम की डी.एच.ए. मधुबाला दीक्षित का मामला इसी तरह का होने के बावजूद भी अधिकारी मौन हंै। मधुबाला की डिग्री मैडीकल काऊंसिल ऑफ  इंडिया से एपू्रव नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You