वोट के लिए 1984 दंगों के मुद्दे को उठा रही हैं पार्टियां: लवली

  • वोट के लिए 1984 दंगों के मुद्दे को उठा रही हैं पार्टियां: लवली
You Are HereNational
Friday, January 31, 2014-11:37 PM

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस ने प्रतिद्वंद्वी पार्टियों पर 1984 के दंगों का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच का आदेश देने का आप के कदम का उद्देश्य लोकसभा चुनाव से पहले समुदाय को आकर्षित करना है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने कहा, ‘‘हम 1984 के सिख दंगों की सभी जांचों का स्वागत करते हैं लेकिन केवल वोट बैंक की राजनीति के लिए जांच का आदेश मत दीजिये। 1984 के आधार पर वोट नहीं मांगिये।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम भी दंगों में शामिल लोगों के लिए सख्त सजा चाहते हैं लेकिन पार्टियां वर्तमान समय में इस मुद्दे को सिखों के वोट के लिए उठा रही हैं।’’ उन्होंने कहा कि यदि पार्टियां वास्तव में पीड़ितों के लिए न्याय को लेकर चिंतित हैं तो उन्हें इस मुद्दे को चुनाव के बाद भी जिंदा रखना चाहिए।’’

अरविंद केजरीवाल नीत दिल्ली सरकार ने गत बुधवार को 1984 के सिख विरोधी दंगे की एसआईटी से जांच का निर्णय किया। इससे दो दिन पहले कांग्रेस कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक टेलीविजन चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा था कि उनकी पार्टी के कुछ लोग संभवत: हिंसा में शामिल थे लेकिन उन्हें सजा दी गई।

लवली ने केजरीवाल पर आरोप लगाया कि उन्होंने इस मुद्दे को राहुल द्वारा अपने साक्षात्कार में इसका उल्लेख किये जाने के बाद ही उठाया। उन्होंने 2004 के चुनाव के बाद मनमोहन सिंह एक सिख को प्रधानमंत्री नियुक्त करने के निर्णय के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की प्रशंसा की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You