10 पुलिस कंट्रोल रूम होंगे अत्याधुनिक

  • 10 पुलिस कंट्रोल रूम होंगे अत्याधुनिक
You Are HereRajasthan
Saturday, February 01, 2014-3:51 PM
जयपुर: राजधानी के पुलिस कन्ट्रोल रूम की तर्ज पर अब राय के अन्य सभी पुलिस कन्ट्रोल रूम भी हाइटेक नजर आएंगे। इनमें वे सभी  आधुनिकतम सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी जिनके अभी नहीं होने के कारण संबंधित जिलों की पुलिस को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।अपनी इस कार्ययोजना को मूर्तरूप देने के लिए पुलिस की ओर से वित्त विभाग को दो करोड़ रुपए के बजट प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। प्रथम चरण में दस पुलिस कन्ट्रोल रूम शामिल किए गए हैं।

इस प्रस्ताव के पास होने के बाद दस जिलों में पुलिस कन्ट्रोल रूम राजधानी के कन्ट्रोल रूम जैसे हो जाएंगे। पुलिस मुख्यालय सूत्रों के अनुसार राय कई जिलों में पुलिस कंट्रोल रूमों की हालत इस कदर खराब है कि वहां पुलिसकर्मियों को बैठने तक की जगह व कुर्सियां तक नहीं हैं। महकमा पुलिस के तंत्र को प्रभावी तरीके से चलाने के लिए सतही आधार(पुलिस थाना) से लेकर अधिकारियों के बीच घटना विशेष के बाद आपसी समंवय स्थापित करने का पूरा जिम्मा संबंधित जिले के पुलिस कंट्रोल रूम पर ही रहता है। इसके बावजूद इसे अनुपयोगी मानते हुए यहां की आधारभूत सुविधाओं की ओर गौर करना उचित नहीं समझा जाता है।

पुलिस में बजट व जनसहयोग से सारे काम होते हैं लेकिन यह काम सिर्फ थाने और पुलिस अधिकारियों के बंगलों और आफिस में होते हैं। राय में सत्ता परिवर्तन के बाद नवनियुक्त डीजीपी  की आला अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में पुलिस कन्ट्रोल रूम की सुविधाओं को लेकर चर्चा की गई।  जिसके बाद तय किया गया कि राजधानी का सिटी कन्ट्रोल रूम दिल्ली पुलिस के कन्ट्रोल रूम से बेहतर है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए शुरुआत में  राय के दस पुलिस कन्ट्रोल रूम में टेबिल कुर्सी और भवन की मरम्मत करवाने के लिए दो करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाकर वित्त विभाग के पास भेजा गया। जिसे मंजूरी मिलने के बाद दस जिलों के कन्ट्रोल रूम हाइटेक हो जाएंगे। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You