बजली कंपनियों से मिले हुए हैं सी.एम. : कांग्रेस

  • बजली कंपनियों से मिले हुए हैं सी.एम. : कांग्रेस
You Are HereNational
Saturday, February 01, 2014-11:46 PM

नई दिल्ली : अरविंद केजरीवाल पर बिजली वितरण कंपनियों से मिलने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने कहा कि मुख्यमंत्री बिजली की दरों में वृद्धि के लिए पूरी तरह जिम्मेदार हैं और लोगों के विश्वास को धोखा दिया है। पार्टी ने कहा कि मुख्यमंत्री व बिजली कंपनियों के बीच सांठ-गांठ के चलते ही डी.ई.आर.सी. ने सरचार्ज बढ़ाने जैसा कदम उठाया है। 

बिजली की दर में वृद्धि को वापस लेने की मांग करते हुए कांग्रेस विधायक दल के नेता हारून यूसुफ ने दावा किया कि केजरीवाल को पहले से मालूम था कि विद्युत वितरण कंपनियां सरचार्ज लगाने वाली हैं। उन्होंने कहा कि यह एक प्रक्रिया है जिसके तहत डी.ई.आर.सी. दरें बढ़ाने से 8-10 दिन पहले औपचारिक रूप से मुख्य सचिव और विद्युत सचिव को उसकी सूचना देती है।

विद्युत वितरण कंपनियों ने सरकार को पत्र लिखकर अपने समक्ष मौजूद मुश्किलों के बारे में बताया था और चेतावनी दी थी कि 8-10 घंटे तक बिजली की कटौती हो सकती है। उन्होंने केजरीवाल से जानना चाहा है कि क्या वे अब डी.ई.आर.सी. कार्यालय के सामने धरना देंगे। उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री धरना पर बैठेंगे, तो कांग्रेस भी उनके साथ धरने पर बैठेगी।      


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You