गलत तरीके से कर दिया 60 लाख का भुगतान

  • गलत तरीके से कर दिया 60 लाख का भुगतान
You Are HereNational
Sunday, February 02, 2014-12:37 AM
नई दिल्ली(ताहिर सिद्दीकी): शीला दीक्षित सरकार के गड़बड़झाले की परतें अब धीरे-धीरे खुलने लगी है। सरकारी खजाने से स्टैंडिंग काऊंसिल को गलत तरीके से 60 लाख रुपए अदा करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। उपराज्यपाल नजीब जंग के एक आदेश पर हो रही जांच में यह मामला सामने आया। अगर जांच आगे बढ़ी तो पूर्व मुख्यमंत्री और तत्कालीन अधिकारी भी फंस सकते हैं। 
 
विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक उपराज्यपाल ने गत 13 जनवरी को अपने एक आदेश में राज्य सरकार को यह पता लगाने के लिए कहा था कि आखिर अदालती मामलों में सरकार को हार का सामना क्यों करना पड़ रहा है। कहीं ऐसा तो नहीं कि सरकार की ओर से नियुक्त वकील सरकारी केसों को जानबूझकर कमजोर कर रहे हैं।
 
इस आदेश को मुख्यमंत्री ने विधि विभाग को भेजा और इस मामले की गहराई से जांच कराने का आदेश दिया। विभाग ने पूरे मामले की जांच एक कमेटी गठित करके शुरू कर दी है। इस दौरान इस मामले में भी शीला राज की गड़बडिय़ों की परतें खुलने लगी हैं। सूत्रों के मुताबिक पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने हाईकोर्ट में सरकारी केसों की पैरवी करने के लिए 2009-10 में स्टैंडिंग काऊंसिल के तौर पर पवन शर्मा की नियुक्ति की थी। अन्य राज्यों में इस पद को एडवोकेट जनरल के रूप में जाना जाता है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You