AAP ने 50 दिन में 7 करोड़ रुपये जुटाए

  • AAP ने 50 दिन में 7 करोड़ रुपये जुटाए
You Are HereNational
Sunday, February 02, 2014-6:34 PM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) को आगामी लोकसभा चुनाव लडऩे के लिए 50 दिनों में सात करोड़ रुपये से अधिक का चंदा मिला। यह राशि देने वालों में रिक्शा चालकों से लेकर अनिवासी भारतीय तक शामिल हैं। यही नहीं पार्टी के सदस्यों की संख्या एक करोड़ को पार कर चुकी है।

आप के लिए वित्तीय व्यवस्था संभालने वाले एक स्वयंसेवक बिपुल दे ने आईएएनएस से कहा कि आप को मिले चंदे में से एक बड़ा हिस्सा अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और ब्रिटेन से आया है, जहां बड़ी संख्या में अनिवासी भारतीय या भारतवंशी रहते हैं। सर्वाधिक 5.7 करोड़ रुपये की राशि हालांकि देश में ही जुटाई गई। इसके बाद अमेरिका से 62 लाख रुपये मिले।

अमेरिका के बाद संयुक्त अरब अमीरात से 25 लाख रुपये, सिंगापुर से 19 लाख रुपये, ब्रिटेन से 14 लाख रुपये और कनाडा से 6 लाख रुपये मिले। कोष जुटाने का काम 12 दिसंबर को शुरू हुआ था।

डे ने कहा कि सर्वाधिक अनुदान पूर्व कानून मंत्री और प्रख्यात वकील शांति भूषण ने दिया। भूषण पार्टी के साथ इसकी स्थापना के समय से हैं और वह आप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य तथा वकील प्रशांत भूषण के पिता हैं।

डे ने कहा कि वरिष्ठ भूषण ने आप के गठन के वक्त नवंबर 2012 में एक करोड़ रुपये का डोनेशन दिया था। अन्य एक करोड़ रुपये उन्होंने करीब एक सप्ताह पहले दिए।

पार्टी के हनुमान रोड कार्यालय में बैठने वाले डे ने आईएएनएस से कहा कि अधिकतर अनिवासी भारतीय और देश के नागरिकों ने ऑनलाइन माध्यम से डोनेशन दिया।

डे के मुताबिक डोनेशन जुटाने का नया दौर 12 दिसंबर को शुरू हुआ। इससे चार दिनों पहले पार्टी को दिल्ली विधानसभा में शानदार 28 सीटों पर जीत हासिल हुई थी।

डे ने कहा, ‘‘दिल्ली चुनाव के लिए हमने 20 करोड़ रुपये की सीमा लगाई थी। 17 नवंबर को 20 करोड़ डोनेशन पूरा होने पर हमने डोनेशन लेना बंद कर दिया था।’’

2014 में आप ने प्रत्येक दानकर्ता से 2014 रुपये लेने का फैसला किया, जिसे देश और विदेश में व्यापक समर्थन मिला।

आप ने नीति के तहत सभी दानकर्ताओं और उनके द्वारा दी गई डोनेशन राशि को सार्वजनिक किया। आप ने अधिक डोनेशन देने वालों को हालांकि मना नहीं किया। उसने पांच रुपये और 10 रुपये के भी डोनेशन स्वीकार किए।

पार्टी के सूत्रों के मुताबिक वह लोकभा चुनाव में 350 सीटों पर लड़ेगी और इस नाते डोनेशन स्वीकार करना एक बड़ी प्राथमिकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You