अभी तक तो स्लोगन ही रहा दिल्ली पुलिस का नया स्लोगन

  • अभी तक तो स्लोगन ही रहा दिल्ली पुलिस का नया स्लोगन
You Are HereNational
Monday, February 03, 2014-12:55 AM

नई दिल्ली (महेश चौहान): दिल्ली पुलिस आयुक्त भीम सेन बस्सी ने दिल्ली पुलिस के लोगो पर से सत्यमेव जयते हटाकर शांति, सेवा, न्याय कर दिया है। आयुक्त की सोच है कि इससे विभाग कुछ सीख लेगा। मगर जनवरी 2014 में लोगों को इससे फायदा तो कहीं नहीं दिखा है।

जनवरी महीने में जिस तरह से विदेशी महिला से गैंगरेप, नॉर्थ ईस्ट के रहने वालों से पहले की ही तरह से द्वेष भाव हुआ, पीड़ितों की प्राथमिकता दर्ज नहीं हुई, लड़कियों और बच्चियों की अक्समत लूटी, सीनियर सिटीजन भी शिकार बने, व्यापारी अपना पैसा एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में डरते रहे।

इतना सब कुछ होने के बावजूद भी पुलिस अधिकारी ऐसा नहीं मान रहे हैं। उनका कहना है कि ऐसा नहीं है पुलिस अपना काम नि:स्वार्थ तरीके से कर रही है। 2013 और 2014 में सिर्फ जनवरी महीने का क्राइम आंकड़ा देखें तो लगभग उतना ही सामने आ रहा है। बस इसमें बलात्कार का आंकड़ा इस साल कम दिखाई दे रहा है। जनवरी महीने में बलात्कार के 16 मामले सामने आए हैं। 

इसमें नबी करीम इलाके में डैनमार्क महिला से 7 लोगों द्वारा गैंगरेप कर लूटपाट का मामला भी शामिल है। इस मामले में अभी तक 6 आरोपियों को पकड़ा गया है, जिसमें से 4 नाबालिग हैं। इसी तरह से मालवीय नगर के खिड़की एक्सटैंशन में अफ्रीकन महिलाओं से छेड़छाड़ का भी मामला सामने आया था, जिसमें नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है।
 
खिड़की एक्सटैंशन में ही अफ्रीकन युवाओं पर ड्रग्स बेचने और वेश्यावृत्ति का धंधा करने का आरोप भी लगा।  इन मामलों सेे दिल्ली की राजनीति गर्मा गई। 29 जनवरी को लाजपत नगर में नॉर्थ-ईस्ट के युवक निडो तानिया की हत्या और 25 जनवरी की रात कोटला मुबारकपुर इलाके में एक मॉल में काम करने वाली चॉनमिला और थर्मिला की पिटाई व नस्ल भेदी टिप्पणी करने का मामला सामने आया लेकिन दोनों ही मामलों में स्थानीय पुलिस की लापरवाही सामने आई।
 
पुलिस की लापरवाही का मामला सीमापुरी इलाके में भी सामने आया जब बदमाशों ने 2 लड़कों को घर में घुसकर पीटा। पुलिस ने अभी तक आरोपियों को पकड़ा तक नहीं है। बदमाशों पर हल्की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। समयपुर बादली इलाके में भी एक लड़का अपने छोटे भाई के हत्यारों को सजा दिलवाने के लिए रेलवे पुलिस और स्थानीय थाने के चक्कर लगा रहा है। यही नहीं अपराध शाखा के 2 सिपाहियों को सस्पैंड किया गया। जिन्होंने अलीपुर में वसूली के लिए 20 लाख रुपए मांगे। 
 
वसूली में ही कोतवाली इलाके में 3 और दरियागंज थाने के एक कांस्टेबल को मीडिया फोटोग्राफर को थप्पड़ मारने के आरोप में सस्पैंड किया गया। ललित होटल के पास बेरिकेड्स लगाने के मामले में भी टी.आई. समेत 5 पुलिस वाले सस्पैंड हुए। 
 
जनवरी महीने में कुछ सनसनीखेज वारदातें भी सामने आईं, जिसमें लीला होटल के कमरे में केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्धावस्था में लाश मिलना, लाजपत नगर मैट्रो स्टेशन के सामने दिन-दिहाड़े आधा दर्जन से ज्यादा बदमाशों के द्वारा 8 करोड़ रुपए लूटे गए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You