‘प्रदेश में किसान अध्ययन यात्राएं शुरु की जाएंगी’

  • ‘प्रदेश में किसान अध्ययन यात्राएं शुरु की जाएंगी’
You Are HereMadhya Pradesh
Monday, February 03, 2014-4:31 PM

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में विपुल उत्पादन लेने के लिए फसल प्रणाली में बदलाव लाएंगे इसके लिए अक्तूबर माह में कृषि अध्ययन यात्राएं आरंभ की जाएंगी जिनमे वैज्ञानिकों के साथ मुख्यमंत्री, राजनेता और अधिकारी किसान शामिल होंगे। चौहान ने यहां किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के समापन अवसर पर कहा कि मध्यप्रदेश सरकार किसानों की सरकार है। किसान आत्मसम्मान और सकून की जिंदगी जी सके इसके लिए हम समर्पित प्रयास जारी रखेंगे। यह राजनैतिक नहीं मानवीय संवेदना का सरोकार है।

 

उन्होंने कहा कि मालवा के लिए नर्मदा-क्षिप्रा लिंक वरदान सिद्ध होगी। वहा अब ड्रिप इरिगेन को लोकप्रिय बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नरेंद्र सिंह तोमर पार्टी के शुभंकर हैं उनके नेतृत्व में 2008 और 2013 में पार्टी ने सरकार का गठन किया। किसान बाहुल क्षेत्रों में पार्टी को भारी समर्थन मिला है इस समर्थन ने साबित कर दिया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शहरी पार्टी नहीं उसका जनाधार गावों में अधिक है। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य पर गेहूं और धान पर सरकार ने 150 रुपए विशेष बोनस दिया है इसके लिए हमारे सामने किसी किसान ने याचना नहीं की।

 

हम स्वयं किसान के कल्याण और खेती को लाभकारी बनाने के लिए चिंतित हैं। चौहान ने कहा कि  खेती को व्यवसायिक आधार देना होगा। यह काम एक अनुष्ठान के रूप में यात्रा के साथ अक्तूबर माह से आरंभ होगा। इस अनूठे अभियान में प्रदेश के किसान सक्रिय भागीदारी करेंगे। प्रदेश में निर्यात योग्य फसले उगाकर प्रदेश को विदेशी मुद्रा से समृद्ध बनाया जाएगा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You