‘पीएम इन वेटिंग’ की सुरक्षा ‘पीएम’ जैसी

  • ‘पीएम इन वेटिंग’ की सुरक्षा ‘पीएम’ जैसी
You Are HereUttar Pradesh
Monday, February 03, 2014-4:28 PM

मेरठ: गुजरात के मुख्यमंत्री और पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को देखकर अनुमान लगाया जा सकता है कि वह ही पीएम पद के सही उम्मीदवार हैं। उनकी सुरक्षा भी पीएम जैसी ही थी। बस एसपीजी का नाम नहीं था। हेलीकॉप्टर लैंडिंग के बाद नरेंद्र मोदी एनएसजी के कमांडों के घेरे में मंच तक आ गये। नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान खुद आइजी ने मंच के पीछे से सारी सुरक्षा की कमान संभाली।

पूरे फोर्स को मंच के इर्द गिर्द इस तरह लगाया गयाअगर परिंदा पर भी मारने की कोशिश करे तो वह भी शायद नाकाम रहे। बड़ी लकीर खींच गए मोदी, अन्य सियासी दलों में बढ़ी बेचैनी। अपने एक घंटा पचास मिनट मेरठ की धरती पर रहे पीएम इन वेटिंग की सुरक्षा पीएम जैसी ही थी। एक बजकर पचास मिनट पर जैसे ही पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर हेलीपैड पर पहुंचा। उसी समय पुलिस फोर्स को हेलीपैड के चारों ओर लगा दिया था। हालांकि हेलीपैड ग्राउंड के पूरब में लगी टिन को भीड़ ने गिरा दिया था।

तभी मंच के इर्द गिर्द आइजी आलोक कुमार खुद पुलिस बल के साथ पहुंचे। डी की सुरक्षा के बावजूद भी लोगों ने मंच पर जाने की कोशिश की तो आइजी की टीम ने खुद आगे बढ़कर रोक दिया। बड़ी धक्का-मुक्की के दौरान पुलिस के रोकने के बाद भी कुछ लोग पीछे से मंच पर चढ़ गए थे। हालांकि आइजी ने खुद मोर्चा संभाल कर मंच पर चढऩे से भीड़ को रोका। भाषण खत्म होने के बाद मोदी के मंच से मंदिर में जाने को लेकर तत्काल ही एसएसपी ओंकार सिंह ने सुरक्षा घेरा तैयार किया। वहीं डीआइजी के सत्यानारायण ने मंच और हेलीपैड की निगरानी कर रहे थे। रैली खत्म होते ही पलट प्रवाह के इंतजाम संभालने में फोर्स जुट गई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You