तेलंगाना गठन के विरोध की जनहित याचिका पर सुनवाई करेगा कोर्ट

  • तेलंगाना गठन के विरोध की जनहित याचिका पर सुनवाई करेगा कोर्ट
You Are HereNational
Monday, February 03, 2014-10:38 PM
नईदिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने तेलंगाना  गठन के विरोध में जनहित याचिका पर सुनवाई पर सहमति जताई है । आज उस जनहित याचिका पर सुनवाई करने पर सहमति जता दी जिसमें केंद्र को अलग तेलंगाना राज्य के गठन के लिए संसद में एक विधेयक को पेश करने से रोकने की मांग की गई है।
 
मुख्य न्यायाधीश पी सदाशिवम की अध्यक्षता वाली पीठ ने मामले को आठ फरवरी को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया। उस दिन वह इस बात की पड़ताल करेगी कि आंध्र प्रदेश विधानसभा द्वारा खारिज करने के बाद क्या विधेयक को संसद में पेश किया जा सकता है।
 
याचिकाकर्ता एम एल शर्मा ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 3 के प्रावधानों के अनुसार राष्ट्रपति आंध्र प्रदेश पुनर्गठन विधेयक 2013 को राज्य विधानसभा की इच्छा, प्रस्ताव के विपरीत संसद में पेश करने की सिफारिश नहीं कर सकता है। अनुशंसा राष्ट्रपति को राज्य विधानसभा के प्रस्ताव के खिलाफ विधेयक को स्वीकार करने की शक्ति नहीं देती है।
 
उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के बंटवारे से उस राज्य के नागरिकों का जीवन और स्वतंत्रता प्रभावित होती है और इसे अवश्य रोका जाना चाहिए। याचिका में कहा गया है, विधेयक के विधानसभा में विफल होने के बावजूद मौजूदा राजनीतिक नेता  देश की मौजूदा संसद के फरवरी 2014 में होने वाले आखिरी सत्र में विधेयक को पेश करने पर तुले हुए हैं क्योंकि संसदीय चुनाव अप्रैल, मई में होने वाले हैं और इस महीने के भीतर चुनाव आयोग चुनाव के लिए अधिसूचना जारी करेगा।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You