शिक्षा मंत्री के निगम विद्यालय में औचक निरीक्षण में बदहाली का आलम

  • शिक्षा मंत्री के निगम विद्यालय में औचक निरीक्षण में बदहाली का आलम
You Are HereNational
Monday, February 03, 2014-11:29 PM

नई दिल्ली : दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया पूर्वी विनोद नगर के निगम विद्यालय में औचक निरीक्षण किया।  शिक्षा मंत्री  हैरान रह गए जब उन्होंने विद्यालय में छात्राओं को चौकीदार के भरोसे पाया। शिक्षा मंत्री के पहुंचने पर मुख्य अध्यापिका सहित सभी शिक्षक अनुपस्थित थे। निरीक्षण के दौरान मिड-डे मील के चावल में कीड़ा मिला। हालांकि निगम अधिकारी कीड़ा मिलने से इन्कार कर रहे हैं। 

 
इस मामले में प्रधानाचार्य मंजू राजपूत और एक शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है। कार्य में कोताही बरतने पर विद्यालय निरीक्षक और मिड-डे मील की जिम्मेदारी संभालने वाली स्वयंसेवी संस्था स्त्री शक्ति को कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब देने का आदेश दिया गया है। सिसोदिया ने नगर निगम शिक्षा विभाग के निदेशक के. विजयन को भी मौके पर बुला लिया।
 
शिक्षामंत्री को इस स्कूल की लगातार शिकायतें मिल रही थीं। इस वजह से सिसोदिया सोमवार सुबह पौने आठ बजे अचानक स्कूल पहुंच गए। आनन-फानन में अधिकारी स्कूल पहुंचने लगे। स्कूल में साढ़े नौ बजे एक शिक्षिका पहुंची और दूसरी शिक्षिका पौने दस बजे आई। साढ़े नौ बजे जब मिड डे मील पहुंचा तो उसमें सील नहीं लगी थी। शिक्षा मंत्री ने खाना चख कर देखा तो वह बहुत घटिया था। चावल में कीड़ा भी मिला।
 
 सोमवार को निर्धारित मैन्यू में पूड़ी और छोले परोसा जाना था, लेकिन चावल और दाल लाया गया था। मौके पर मौजूद स्थानीय निवासी अंकित चौधरी बताते हैं कि दाल इतना घटिया थी कि खाते ही उबकाई आ जाए। चावल भी बहुत ही खराब किस्म का था। सिसोदिया ने अधिकारियों को कार्रवाई के आदेश दिए। इस मौके पर सिसोदिया ने कहा कि शिक्षक स्कूल से नदारद रहते हैं। घटिया स्तर का खाना दिया जा रहा है। बच्चों ने बताया कि अक्सर शिक्षक देर से आते हैं। यहां तक परीक्षाएं भी मॉनिटर आयोजित करवाती हैं। उन्होंने कहा कि इस विद्यालय के प्रधानाचार्य को पद पर बने रहने का हक नहीं है।
 
 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You