पूर्वी दिल्ली में होगी भयंकर बिजली कटौती

  • पूर्वी दिल्ली में होगी भयंकर बिजली कटौती
You Are HereNational
Tuesday, February 04, 2014-1:21 AM
नई दिल्ली : दिल्ली में चौबीस घंटे बिजली सप्लाई की व्यवस्था को लेकर चल रहा बिजली कंपनियों और दिल्ली सरकार के बीच का विवाद खत्म होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। रोजाना पूर्वी दिल्ली सहित दूसरे इलाकों में पांच से आठ घंटे की बिजली कटौती हो रही है और कंपनियां कटौती किए जाने की बात से इंकार कर रही है।
 
 सोमवार को भी दिल्ली ट्रांस्को लिमिटेड ने एक डाटा जारी कर मंगलवार और बुधवार को पूर्वी दिल्ली के दर्जनों इलाकों सहित मध्य और दूसरे इलाकों में कटौती किए जाने की जानकारी दी। इससे साफ है कि अगले दो दिन तक यमुनापार और दूसरे कई इलाकों में बत्ती घंटों गुल रहेगी। बिजली कटौती को लेकर अब दिल्ली सरकार और निजी बिजली कंपनी बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड (बीवाईपीएल) और बीएसईएस राजधानी पॉवर लिमिटेड (बीआरपीएल) के बीच विवाद और भी बढ़ गया है।
 
 सोमवार को सरकार की ओर से दिल्ली में बिजली के दाम तय करने वाली संस्था दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) को एक पत्र लिखकर कंपनी के लाइसेंस को रद्द करने की सिफारिश की गई। हालांकि बीएसईएस ने एक बयान जारी कर कहा है कि उसे सरकार और डीईआससी के बीच हुई किसी भी तरह की बातचीत की कोई जानकारी नहीं है। नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन(एनटीपीसी) जब बीएसईएस को बिजली दे रहा है तो आखिर बिजली कहां जा रही है और पूर्वी दिल्ली के इलाकों में अभी भी लोगों को कटौती का सामना क्यों करना पड़ रहा है।
 
 बीवाईपीएल पूर्वी दिल्ली में बिजली सप्लाई करता है लेकिन सोमवार को भी दर्जनों इलाकों में चार से छह घंटे बत्ती गुल रही। 
मंगलवार और बुधवार को की जाने वाली बिजली कटौती का कारण दिल्ली ट्रांस्को कटौती के पीछे बिजली के ट्रांसफॉर्मरों, तारों और बिजली के बक्सों में की जाने वाली मरम्मत को कारण बता रहा है। बिजली कंपनी बीएसईएस का कहना है कि गर्मियों में लोगों को बिना बाधा के चौबीस घंटे बिजली मिलती रहे, इसलिए इन दिनों कंपनी की ओर से तमाम तरह की मरम्मत का कार्य किया जा रहा है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You