गुजरात में सिखों की जमीनें छीन रहे हैं मोदी : मुलायम

  • गुजरात में सिखों की जमीनें छीन रहे हैं मोदी : मुलायम
You Are HereNational
Tuesday, February 04, 2014-5:49 AM

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि केन्द्र में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने देश में विपक्ष के सभी बड़े नेताओं को किसी न किसी मामले में फं सा कर अपमानित करने का कुचक्र रचा है। इसका शिकार मैं भी हुआ लेकिन मुझे सी.बी.आई. ने क्लीन चिट दे दी।

उन्होंने कांग्रेस से मुसलमानों को सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा कि न्यायमूर्ति राजेन्द्र सच्चर ने अपनी रिपोर्ट में मुसलमानों की हालत अनुसूचित जाति व जनजाति से भी बदतर बताई थी लेकिन मुसलमानों के वोट से सरकार बनाने वाली कांग्रेस ने उनके उत्थान के लिए सच्चर कमेटी की संस्तुतियों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। लोकसभा के आगामी सत्र में सपा एक बार फि र इस मामले को जोर-शोर से उठाएगी और संस्तुतियों को लागू करने की मांग करेगी।

मुलायम यहां शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह इंटर कालेज के मैदान में पार्टी की ओर से आयोजित ‘देश बचाओ-देश बनाओ’ रैली को सम्बोधित कर रहे थे। एक घंटे के अपने भाषण में मुलायम ने आरोप लगाया कि देश पर कुल विदेशी कर्जे तथा विकास के बजट के बराबर का धन विदेशी बैंकों में जमा है, किन्तु सरकार इसे वापस लाने में कोई रुचि नहीं दिखा रही है। भाजपा पर निशाना साधते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि इसका कारनामा किसी से छिपा नहीं है। पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी झूठा भाषण करते हैं। पार्टी को तो ऐसे व्यक्ति के विरुद्ध कार्रवाई करनी चाहिए।   मोदी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं गुजरात में सिखों की जमीन छीनकर उन्हें प्रदेश से बाहर निकालने की साजिश रच रहे हैं। हम पहले भी गुजरात तक लड़े हैं और फि र लड़ेंगे।

 बसपा को निशाने पर लेते हुए सपा सुप्रीमो ने कहा कि राजनीति में कभी-कभी कुछ गलत फैसले हो जाते हैं और बसपा की उत्पत्ति इसी गलती से हुई, वैसे धीरे-धीरे अब इसका खात्मा हो रहा है। सपा नेता ने कहा कि स्वयं को ईमानदार कहने वाला व्यक्ति कभी ईमानदार नहीं हो सकता। लोगों को गुमराह करके दिल्ली के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा व्यक्ति सबको भ्रष्ट बता रहा है। मैं मुकद्दमा नहीं करना चाहता अन्यथा उसे जेल में डलवा देता। सपा सुप्रीमो ने सवाल किया कि यदि वह ईमानदार थे तो नौकरी क्यों छोड़ दी? इस मौके पर अखिलेश काबीना के करीब 3 दर्जन मंत्री व राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त नेता मौजूद रहे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You