छत्तीसगढ़ विस में नए विधायकों ने दिखाए आक्रामक तेवर

  • छत्तीसगढ़ विस में नए विधायकों ने दिखाए आक्रामक तेवर
You Are HereNational
Tuesday, February 04, 2014-10:04 AM

रायपुर: बजट सत्र के पहले दिन नए विधायकों ने अपने प्रश्नों के माध्यम से जमकर तेवर दिखाए वहीं मंत्री रमशिला साहू ने भी उनका अच्छा मुकाबला किया। प्रश्न काल में सोमवार को पहला प्रश्र कोण्डागांव के विधायक मोहन मरकाम के प्रश्र से शुरू हुआ। उन्होंने अपने क्षेत्र में घटिया रेडी-टू-ईट सप्लाई किए जाने का मामला उठाया। वहीं उमेश पटेल ने आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन नहीं होने का मामला उठाया। डोंगरगढ़ विधायक सरोजनी बंजारे ने अपने क्षेत्र में भी भवन विहीन आंगनबाड़ी केंद्रों को लेकर मंत्री को घेरा और यह आश्वासन लिया कि कलेक्टर के माध्यम से मिले प्रस्ताव पर भवन स्वीकृत किया जाता है।

 

संमराम नेताम ने केशकाल क्षेत्र में अवैध उत्खनन के मामले में कार्रवाई नहीं किए जाने पर खनिज विभाग की कार्रवाई पर सवालिया निशान लगाया। लखेश्वर बघेल ने मुख्यमंत्री को राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना में अभी तक सैकड़ों गांवों में अधूरा होने का मामला उठाया। वहीं शंकर ध्रुवा ने कांकेर क्षेत्र में वृक्षारोपण में अनियमितता के मामले में विभाग के कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाया।

 

मानपुर मोहला की विधायक तेजकुंवर नेताम ने अपने क्षेत्र के कई गांवों में बिजली कनेक्शन नहीं किए जाने पर प्रश्र उठाया। वहीं अनिला भेडिय़ा ने आंगनबाड़ी केंद्रों में भवन नहीं होने पर सवाल उठाया। बस्तर के विधायक दीपक बैज ने बस्तर के विद्युतीकरण को लेकर विद्युत विभाग के द्वारा गलत जानकारी देने का आरोप लगाया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You