क्या मोदी की आलोचना से बढ़ रही है ‘नमो’ लहर?

  • क्या मोदी की आलोचना से बढ़ रही है ‘नमो’ लहर?
You Are HereNational
Wednesday, February 05, 2014-9:42 AM

नई दिल्ली: राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने यह कह कर कि जितना तीसरे मोर्चे का शोर मचेगा, लोगों में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने की इच्छा उतनी प्रबल होगी, एक नई बहस छेड़ दी है। मोदी के आलोचक भी दबी जुबान में यह मानने लगे हैं कि मोदी का ज्यादा विरोध उनके लिए ही नुक्सानदायक साबित हो रहा है।

इसके पीछे उनका तर्क है कि ज्यादा आलोचना के कारण लोगों में उस व्यक्ति के प्रति हमदर्दी की भावना जागृत हो जाती है। शायद इसी कारण मोदी की जितनी आलोचना हो रही है,  उतनी ही ‘नमो’ लहर बढ़ती नजर आ रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You