सर्वोच्च न्यायालय की फटकार से सबक ले सरकार: भाजपा

  • सर्वोच्च न्यायालय की फटकार से सबक ले सरकार: भाजपा
You Are HereNational
Wednesday, February 05, 2014-2:06 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उप्र इकाई ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों पर लचर रवैया दिखा रही सूबे की समाजवादी पार्टी (सपा) की सरकार को सर्वोच्च न्यायालय की फटकार से सबक लेना चाहिए। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगे को लेकर राज्य सरकार लगातार लापरवाही बरत रही है और यही वजह है कि अब सर्वोच्च न्यायालय ने एक बार फिर सरकार को फटकार लगाई है।

पाठक ने सरकार से सवाल पूछते हुए कहा है कि यह दंगे को लेकर अपना पक्ष क्यों नहीं रख रही है। दंगे के बाद जो लापरवाही बरती गई, उसे छिपाने में सरकार जुटी हुई है और बार बार अदालत से समय मांग रही है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने सात दिन का समय राज्य सरकार को पक्ष रखने के लिए दिया है। यह हास्यास्पद है कि सरकार अपना पक्ष सही तरीके से नहीं रख पा रही है। सरकार इस मामले से जुड़े वास्तविक तथ्यों को न्यायालय के सामने रखने से बच रही है।

पाठक ने कहा कि दंगों में लोगों की हुई मौतों पर भी रहस्य बरकरार है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि दंगे में कुल कितने लोगों की मौत हुई हैं। सरकार मृतकों का सही आंकड़ा प्रस्तुत नहीं कर पा रही है। इसको लेकर भी भ्रम की स्थिति बनी हुई है। उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने उप्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा है कि दंगे को लेकर सरकार का रुख लगातार लचर बना हुआ है। अदालत ने राज्य सरकार को अपना पक्ष रखने के लिए एक सप्ताह का समय दिया है।




 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You