‘मोदी का गरीब प्रेम छलावा, कारपोरेट घरानों के हिमायती’

  • ‘मोदी का गरीब प्रेम छलावा, कारपोरेट घरानों के हिमायती’
You Are HereNational
Wednesday, February 05, 2014-4:26 PM

लखनऊ: राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चौहान ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के गरीब प्रेम को छलावा करार देते हुए कहा कि मोदी कारपोरेट घरानों के हिमायती हैं और उन्हें गांव गरीब से कोई लेना-देना नहीं है। रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि गुजरात में किसानों की जमीन का अधिग्रहण करके कारपोरेट घरानों को दिया जा रहा है। फलस्वरूप किसान आन्दोलनरत हैं और उन्हे न्याय नहीं मिल रहा है। गुजरात में गरीबों की नई परिभाषा जारी की जा चुकी है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 11 रूपये आय वाले तथा शहरी क्षेत्र में 17 रूपये आय वाले गरीबी रेखा के अन्तर्गत नहीं आते ऐसे में नरेंद्र मोदी का गरीब प्रेम दिखावा नहीं तो और क्या है।

चौहान ने कहा कि नरेंद्र मोदी की रैलियों में करोड़ों खर्च करके लाल किला व संसद का मॉडल बनाकर भाषण किया जाना ही गरीबों का मजाक उड़ाना है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने आज तक गरीबी दूर करने के लिए किसी कार्य योजना का जिक्र अपने भाषणों में नहीं किया केवल देश की जनता को गुमराह करने के लिए गांव, गरीब व गंगा की बात करते हैं, जबकि उन्हें गांव, गरीब व गंगा से कोई लेना देना नहीं है। गांव व गरीब यदि इनके एजेन्ड में होते तो गुजरात का हर तीसरा बच्चा कुपोषण का शिकार नहीं होता। नरेंद्र मोदी गंगा की बात केवल धार्मिक भावना भड़काने के लिये करते हैं, क्योंकि उत्तराखण्ड व उ.प्र. में भाजपा के शासनकाल में गंगा को प्रदूषण मुक्त करने का कोई उपाय नहीं किया गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You