कश्मीर में नहीं थम रहा प्रदर्शनों का सिलसिला

  • कश्मीर में नहीं थम रहा प्रदर्शनों का सिलसिला
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-11:30 AM

श्रीनगर: राज्य में नई प्रशासनिक इकाइयों के निर्माण पर सरकार के फैसले के खिलाफ कश्मीर भर में विरोध प्रदर्शनों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है  और  आज  भी घाटी के  कई  इलाकों में लोगों ने उनके संबंधित क्षेत्रों के लिए इन इकाइयों के समर्थन  में  विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शनों के अलावा कश्मीर के विभिन्न इलाकों में बाजारों के पूर्ण बंद का भी पालन किया गया। जानकारी के अनुसार दक्षिण कश्मीर में पुलवामा जिले के अवंतिपुरा क्षेत्र में प्रदर्शनकारियों ने श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर सरकार विरोधी नारेबाजी की।

इस दौरान राजमार्ग पर वाहनों की कतारें लग गईं। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि सरकार ने अवंतिपुरा को जिले का दर्जा देने के लिए लोगों की मांग को नजरअंदाज कर दिया है।  दक्षिण कश्मीर में कुलगाम जिले के मोहम्मदपुरा, खी, जोगीपुरा, बोन खंदीपुरा, पेथ खंदीपुरा, गनसरगाम, वी.बी. पुरा, बटपुरा, सोउच, छांसर, हदीगाम, बमब्राथ, कचोहालन, अरेय, पदरपुरा, निल्लो, अवाहटु, ओडूरा, अकीपुरा, सेहपुरा, ददरकूट, नौवपुरा, शोगनपुरा, गुन्डबल और कोटोब्रारी में भी बाजार बंद रहे और लोगों ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। लोगों ने सरकार पर मोहम्मदपुरा को जानबूझ कर नजरअंदाज कर ब्लॉक का दर्जा देने से वंचित रखने का आरोप लगाया है।

इन गांवों के निवासियों ने श्रीनगर की प्रैस कालोनी में विरोध प्रदर्शन करते हुए कहा कि उनके गांव में कम से कम 16000 लोगों की आबादी है, जबकि आसपास के क्षेत्रों में कुल 30000 की आबादी है। मोहम्मदपुरा के सरपंच ने कहा कि मुश्ताक गनई समिति ने हमारे गांव को तहसील और ब्लॉक का दर्जा देने का वायदा किया था, लेकिन दुर्भाग्य से हमारे गांव सूची में शामिल नहीं हैं। इस दौरान नेहहामा, कुलगाम के लोगों ने क्षेत्र को तहसील का दर्जा नहीं मिलने पर सरकार विरोधी नारेबाजी की। मध्य कश्मीर में बडग़ाम जिले के क्रिमशौरा इलाके के निवासियों ने प्रैस कालोनी में प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक नेताओं को खुश करने के लिए सरकार ने एक सुनियोजित तरीके से उनके इलाके को नजरअंदाज कर दिया है।

विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व आवामी नैशनल कांफ्रैंस (ए.एन.सी.) नेता अब्दुल गनी नसीम ने किया। उन्होंने कहा कि यदि क्रिमशौर को तहसील और ब्लॉक का दर्जा नहीं दिया जाता है तो निवासियों द्वारा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। दक्षिण कश्मीर में पुलवामा जिले के अचन, अडूरा, अलाइपुरा, हाजीदरपुरा, भट्टनोर और गडबुग इलाकों में भी ब्लॉक और तहसील का दर्जा नहीं मिलने पर लोगों ने विरोध प्रदर्शन किए। नई प्रशासनिक इकाइयों के निर्माण के समर्थन में घाटी के द्रबगाम, शादीमर्ग, लस्सीपुरा पुलवामा, अवंतिपुरा, लुरगाम, कपरन शोपियां, वासूरा, ताहब, अचन, अडूरा, अलाइपुरा, हाजीदरपुरा, भट्टनोर, गडबुग, लोलाब कुपवाडा, सीर हमदान अनंतनाग और अन्य दर्जनों इलाकों में पूर्ण बंद के बीच लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारियों ने सरकार पर गनई समिति की सिफारिशों को नजरअंदाज करने और इन प्रशासनिक इकाइयों के निर्माण में राजनीतिकरने का आरोप लगाया है। शादीमर्ग के लोगों ने भी उनके क्षेत्र को नजरअंदाज करने के लिए सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिले के शंगस, नौवगाम, अ‘छाबल और सीर हमदान इलाकों में लोगों ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किए जाने पर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। शंगस इलाके में पूर्ण बंद के बीच लोगों ने क्षेत्र को उप-डिवीजन का दर्जा नहीं देने के लिए सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You