'वसुंधरा सरकार निजी क्षेत्र के दबाव में'

  • 'वसुंधरा सरकार निजी क्षेत्र के दबाव में'
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-5:07 PM

जयपुर: सेन्टर ऑफ इण्डियन ट्रेड यूनियन्स (सीटू) ने आरोप लगाया है कि वसुंधरा राजे सरकार ने निजी क्षेत्र के बस संचालकों के दबाव में रोडवेज के बस अड्डों से निजी बसों को संचालित करने की अनुमति दी है। सीटू प्रदेशाध्यक्ष रवीन्द्र शुक्ला ने आज यहां जारी बयान में कहा कि वसुंधरा सरकार ने प्रदेश के रोडवेज अड्डो से निजी बसों को चलाने एवं राष्ट्रीय राजमार्गों पर निजी बसों के संचालन की अनुमति देने के फैसले को अनुचित बताते हुए कहा है कि सुनियोजित साजिश के तहत प्रदेश के एक बड़े सरकारी उपक्रम को निजी क्षेत्र की ओर धकेलने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रदेश की जनता के हित में इस जन विरोधी निर्णय को तत्काल वापस लिया जाए और राज्य सरकार रोडवेज में खाली पडे पदों को भरा जाए। शुक्ला ने आरोप लगाया है कि प्रदेश में विधायक, सांसद और धन्ना सेठों की निजी बसें धडल्ले से अवैध तरीके से चल रही हैं जिनको रोकने में सरकार ने कोई रुचि नहीं दिखाई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You