‘तीसरे दर्जे की है तीसरे मोर्चे पर मोदी की टिप्पणी’

  • ‘तीसरे दर्जे की है तीसरे मोर्चे पर मोदी की टिप्पणी’
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-6:14 PM

नई दिल्ली: माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने तीसरे मोर्चे के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की टिप्पणी को भाजपा की छिछली राजनीति की मिसाल बताने के साथ ही पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ तृणमूल कांग्रेस पर साम्प्रदायिक ताकतों का साथ देने का आज आरोप लगाया। माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य सीताराम येचुरी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मोर्चे के खिलाफ मोदी की टिप्पणी से उनकी तीसरे दर्जे की मानसिकता का पता चलता है और वह इस पर कोई प्रतिक्रिया जाहिर करना नहीं चाहते। येचुरी ने भाजपा पर जनता के मुद्दों की बात करने के बजाय छिछले राजनीतिक हथकंडे अपनाने का आरोप लगाया।

उन्होंने गुजरात में सरदार वल्लभभाई पटेल की विशाल प्रतिमा बनाने की मोदी की योजना पर चुटकी लेते हुए कहा कि मूॢतयों से जनता की भूख नहीं मिटती। येचुरी नेता ने कहा कि तीसरे मोर्चे ने रोजगार के अवसर बढ़ाने और भ्रष्टाचार मिटाने के लिए एक वैकल्पिक नीति तैयार की है जिससे जनता की आमदनी बढेगी और औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को अनर्गल बातें करने के बजाय जनता को अपनी नीतियों के बारे में बताना चाहिए। मोदी ने बुधवार को कोलकाता में अपनी रैली में कहा था कि तीसरे मोर्चे के सत्ता में आने की स्थिति में देश भी तीसरे दर्जे का हो जाएगा। उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस और केन्द्र में भाजपा के शासन से राज्य की तकदीर बदल जाएगी। येचुरी ने तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख सुश्री बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह 2002 में गुजरात में हुए दंगों के बाद केन्द्र में भाजपा के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार में लौटी थीं।

इससे साबित हो जाता है कि साम्प्रदायिक ताकतों से हाथ मिलाने में उन्हें कोई एतराज नहीं है। गौरतलब है कि चार वाम दलों समेत 11 राजनीतिक पाॢटयों ने बुधवार को संसद में एक मोर्चे के तौर पर काम करने की घोषणा की थी। उनके एक मंच पर आने को आगामी आम चुनावों से पहले तीसरे मोर्चे के गठन की दिशा में पहला कदम माना जा रहा है। संसद के अंदर गैरकांग्रेस और गैरभाजपा मोर्चा बनाने वाले दलों में माकपा के अलावा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी,  फारवर्ड ब्लाक, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी, समाजवादी पार्टी, जनता दल यू, बीजू जनता दल, अन्नाद्रमुक, झारखंड विकास मोर्चा, जनता दल सेक्योलर और असम गण परिषद शामिल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You