लोकसेवक को रिश्वत देने वाली भारतीय व विदेशी कंपनियों को मिले दंड : संसदीय समिति

  • लोकसेवक को रिश्वत देने वाली भारतीय व विदेशी कंपनियों को मिले दंड : संसदीय समिति
You Are HereNcr
Thursday, February 06, 2014-7:03 PM
नई दिल्ली : संसद की एक समिति ने सिफारिश की है कि देश में कोई भी भारतीय या विदेशी कंपनी से जुडा कोई व्यक्ति किसी लोक सेवक को रिश्वत देने का दोषी पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा। साथ ही जुर्माना भी  लगेगा।
 
विधि एवं कार्मिक संबंधी संसद की स्थायी समिति ने भ्रष्टाचार रोकथाम कानून संशोधन विधेयक 2013 पर अपनी रिपोर्ट में ऐसे रिटायर्ड नौकरशाहों को कुछ कवच प्रदान करने के कदम का समर्थन किया है, जिन पर सेवा में रहते कुछ गलत करने के आरोप लगे।
 
 समिति की संसद में आज पेश रिपोर्ट में भ्रष्टाचार के मामलों में मुकदमे की समयसीमा को लेकर सिफारिश की गयी है। विधेयक के मुताबिक कोई भी कंपनी चाहे वह भारत की या विदेश की हो लेकिन उसका कारोबार भारत में हो और चैरिटी सहित सेवाएं दे रही हो, उसके साथ संबद्ध किसी व्यक्ति को भ्रष्टाचार करने से रोकने के लिए जिम्मेदार होगी।
 
विधेयक में प्रावधान है कि किसी कारोबारी कंपनी से जुडा कोई व्यक्ति यदि कारोबारी हितों को आगे बढाने के लिए किसी लोक सेवक को रिश्वत देता है तो उसे तीन से सात साल के कारावास की सजा मिलेगी।
    
 
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You