नीडो की मौत का मामला विशेष अदालत में स्थानांतरित

  • नीडो की मौत का मामला विशेष अदालत में स्थानांतरित
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-10:01 PM

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को अरुणाचल प्रदेश के छात्र नीडो तानिया की मौत के मामले में आरोपी दो व्यक्तियों की जमानत याचिका की सुनवाई विशेष अदालत को स्थानांतरित कर दी। न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर बताया। महानगर दंडाधिकारी पवन कुमार ने आरोपियों सुंदर सिंह और पवन की जमानत याचिका शुक्रवार को पेश करने के लिए कहा और मामले की सुनवाई अनुसूचित जाति/जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत इस तरह के मामलों के लिए स्थापित विशेष न्यायालय को स्थानांतरित कर दी।

बचाव पक्ष के वकील एस. के. शर्मा और शलभ गुप्ता ने न्यायालय को बताया कि उनके मुवक्किलों पर अुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है, अत: इस तरह के आरोपों से निबटने के लिए विशेष तौर पर स्थापित न्यायालय में उनका मामला स्थानांतरित किया जाए। उन्होंने बताया कि उनके मुवक्किलों पर हत्या का आरोप भी नहीं लगाया गया है। इस पर पुलिस ने न्यायालय को बताया कि पीड़ित का चिकित्सकीय रिपोर्ट आने के बाद हत्या का मामला दर्ज किया जाएगा।

इस बीच दिल्ली पुलिस ने आरोपियों की जमानत याचिका का विरोध किया और कहा कि आरोपियों के खिलाफ मामले की जांच अभी प्रारंभिक चरण में है तथा पीड़ित के चिकित्सकीय जांच की रिपोर्ट भी नहीं आई है। अरुणाचल प्रदेश के एक विधायक नीडो पवित्रा के 19 वर्षीय बेटे नीडो तानिया को दक्षिणी दिल्ली के लाजपत नगर में उसके पोशाक को लेकर उपजे विवाद के बाद दो दुकानदारों ने बुरी तरह पिटाई की थी। जिसके बाद 30 जनवरी को नीडो की अस्पताल में मौत हो गई।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You