उमा ने उठाया तेंदुलकर को भारत रत्न देने पर सवाल

  • उमा ने उठाया तेंदुलकर को भारत रत्न देने पर सवाल
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-1:33 PM

इंदौर: मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को ‘भारत रत्न’ दिए जाने को ‘बड़ी भूल’ करार देते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती ने कल कहा कि आईपीएल की बोली प्रक्रिया में शामिल होकर करोड़ों रुपये में ‘बिकने’ वाला क्रिकेटर देश के सर्वो‘च नागरिक सम्मान का हकदार नहीं हैं। निजी यात्रा पर यहां आई उमा ने संवाददाताओं से अनौपचारिक बातचीत में कहा, ‘‘मैं क्रिकेट की प्रशंसक हूं और तेंदुलकर के खिलाफ नहीं बोल रही हूं। लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से जुड़े जिन क्रिकेटरों को औद्योगिक घराने करोड़ों रुपये की बोली लगाकर खरीदते हैं, ऐसे खिलाड़ी भारत रत्न के योग्य नहीं हो सकते।’’

 

उन्होंने आईपीएल में तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धोनी जैसे आला क्रिकेटरों की बोली लगने पर तीखी आपत्ति जताते हुए कहा कि वह सोचती हैं कि तेंदुलकर को ‘भारत रत्न’ देकर बहुत बड़ी भूल की गयी और आईपीएल में ‘बिक चुके’ किसी भी क्रिकेटर को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नहीं नवाजा जाना चाहिए। वरिष्ठ भाजपा नेता ने यह दावा भी किया कि आईपीएल से क्रिकेट का ‘चारित्रिक पतन’ हुआ है। उमा ने भारतीय क्रिकेट के पुराने दौर को याद करते हुए कहा, ‘‘पहले क्रिकेट से राष्ट्रीय चेतना की ऊर्जा पैदा होती थी।

 

मैच देखने वालों का रक्त संचार बढ़ जाता था।’’ उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार में उनके खेल मंत्री रहने के दौरान कई पुराने क्रिकेटरों को प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। ‘हॉकी के जादूगर’ मेजर ध्यानचंद को मरणोपरांत ‘भारत रत्न’ देने की मांग का मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के समर्थन करने के सवाल पर उमा ने छूटते ही कहा, ‘‘मैं उनसे (शिवराज) पहले ही कह चुकी हूं कि ध्यानचंद को भारत रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You