खतरे में है अयोध्या में रामलला का मंदिर, SC के आदेश का इंतजार!

  • खतरे में है अयोध्या में रामलला का मंदिर, SC के आदेश का इंतजार!
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-11:41 AM

नई दिल्‍ली: अयोध्या में रामलला मंदिर पर खतरा मंडरा रहा है। मंदिर की तिरपाल की छत चार बड़ी व 28 पतली बल्लियों के सहारे टिकी है। जिनमें से 12 बल्लियां लगभग सड़ चुकी है और बोझ उठाने के काबिल नहीं हैं। मंदिर में इन बल्लियों की मुरम्मत करने या उन्हें ठीक करने का काम सुप्रीम कोर्ट की अनुमति के बिना नहीं किया जा सकता। हालांकि इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में को अर्र्जी दे दी गई है। मंदिर की देखरेख का काम यहां के अधिग्रहीत क्षेत्र के रिसीवर द्वारा की जाती है और कमिश्नर यहां के पदेन रिसीवर हैं।

इसके अलावा प्रत्येक सप्ताह में रविवार को इलाहाबाद हाइकोर्ट के आदेश पर जिला जज स्तर के दो न्यायिक अधिकारी तथा रामजन्मभूमि स्वामित्व वाद के पक्षकार  मंदिर का जायजा लेकर हाइकोर्ट को रिपोर्ट भेजते हैं। इस टीम ने बल्लियों के सडऩे के बारे में करीब चार महीने पहले ही रिपोर्ट दे दी थी। हालंकि यह भी कहा जा रहा है कि इन बल्लियों के सडऩे से मंदिर के मुख्य ढांचे को सीधा खतरा तो नहीं हैं, परंतु तेज आंधी या तूफान के कारण मंदिर का ढांचा गिर सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You