अग्नि-5 मिसाइल सशस्त्र बलों में होगी शामिल

  • अग्नि-5 मिसाइल सशस्त्र बलों में होगी शामिल
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-3:46 PM

नई दिल्ली: साढ़े पांच हजार किलोमीटर से अधिक मारक क्षमता वाली अग्नि-पांच अंतरमहाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइल के विकास परीक्षण पूरे होने पर अगले साल सशस्त्र बलों में शामिल होने की उम्मीद है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) प्रमुख अविनाश चन्दर ने आज यह भी कहा कि स्वदेश निर्मित परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत का समुद्र परीक्षण अगले ‘‘एक दो महीने’’ में शुरू हो जाएगा और इस प्रक्रिया के तहत उससे अंडरवाटर मिसाइल बीओ-5 दागी जाएगी। 

उन्होंने डिफएक्सो 2014 में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि अग्नि-5 बैलेस्टिक मिसाइल अगले वर्ष तक शामिल होने के लिए तैयार होने की उम्मीद है।  उन्होंने कहा, ‘‘इसके विकास परीक्षण पूरे होने के लिए दो-तीन और परीक्षण करने होंगे । ये परीक्षण एक वर्ष में पूरे होने की उम्मीद है। हम इस वर्ष कैनेस्टर से परीक्षण करेंगे। कुछ परीक्षणों के बाद ये शामिल करने के लिए तैयार हो जाएगा।’’ 

तीन स्तरीय ठोस प्रणोदक मिसाइल का एकीकृत परीक्षण रेंज के काम्प्लेक्स..चार से एक मोबाइल लॉन्चर से पहले ही दो बाद परीक्षण किया जा चुका है जो कि अत्यंत सफल रहा था।  स्वदेश विकसित मिसाइल अग्नि-5 पांच हजार किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। यह करीब 15 मीटर लंबी और दो मीटर चौड़ी है और इसका वजन करीब 50 टन है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You