छत्तीसगढ़ सरकार ने माना, सुकमा जिले में एक भी तहसीलदार पदस्थ नहीं

  • छत्तीसगढ़ सरकार ने माना, सुकमा जिले में एक भी तहसीलदार पदस्थ नहीं
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-5:00 PM

रायपुर: नए जिले बनाने की कई राज्यों मे मची होड़ के बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने आज स्वीकार किया कि पिछले डेढ़ वर्ष पूर्व आस्तित्व में आए देश के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में एक भी तहसीलदार पदस्थ नहीं है। कांग्रेस के कवासी लकमा ने आज प्रश्नोत्तरकाल में कहा कि राज्य सरकार ने सुकमा को बगैर किसी मांग के जिला बना दिया। वहां पर कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक भी पदस्थ कर दिया पर अभी तक एक तहसीलदार की तैनाती नहीं की गई।

 

उन्होंने कहा कि जिले में तीन तहसीले है पर एक भी तहसीलदार नही है। नायब तहसीदार भी केवल दो पदस्थ है। उन्होंने कहा कि सुकमा शायद देश का पहला जिला होगा जहां तीन तहसीले होने के बावजूद केवल एक राजस्व निरीक्षक पदस्थ है। उन्होंने कहा कि एक कलेक्टर एक पुलिस अधीक्षक और एक राजस्व निरीक्षक क्या यहीं जिले की अवधारणा है।

 

राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने स्वीकार किया कि जिले में एक भी तहसीलदार पदस्थ नहीं है। उन्होंने कहा कि एक तहसीलदार की तैनाती हुई थी लेकिन कार्यभार ग्रहण नही करने पर उसे निलम्बित कर दिया है। उन्होंने एक माह के भीतर सुकमा में एक और राजस्व निरीक्षक को पदस्थ करने का आश्वासन दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You