सॉलिसिटर जनरल से राय मांगने पर केजरीवाल ने LG को लिखी चिट्ठी

  • सॉलिसिटर जनरल से राय मांगने पर केजरीवाल ने LG को लिखी चिट्ठी
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-6:44 PM

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में सीधे जनलोकपाल विधेयक पारित कराने को लेकर उठे विवाद के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तल्ख लहजे में उपराज्यपाल नजीब जंग को चिट्ठी लिखी है और सवाल किया है कि विधानसभा में विधेयक को पास कराना किस लिहाज से असंवैधानिक है।

जंग को आज लिखे तीन पृष्ठों के खत में मुख्यमंत्री ने उपराज्यपाल से आग्रह किया है कि वह निष्पक्ष रहे। उनका दायित्व देश के संविधान के प्रति निष्ठावान रहने का है, गृहमंत्रालय या किसी पार्टी के प्रति नहीं।

जनलोकपाल पर सॉलिसिटर जनरल से मशविरा करने के फैसले पर आश्चर्य जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सरकार की तरफ से विधेयक की प्रति आपको कल ही भिजवाई गई है तो आपने किस विधेयक के बारे में राय जाननी है।’’

मुख्यमंत्री ने लिखा है कि अगर प्रत्येक विधेयक को पारित कराने के लिए केंद्र की स्वीकृति लेनी जरुरी है तो दिल्ली में चुनाव कराने का क्या मतलब। मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘‘वह जानते हैं कि आप पर गृह मंत्रालय और कांग्रेस का दबाव है लेकिन निर्णय आपको करना है कि आप दबाव से बच पाते हैं या नहीं। राज्यपाल से अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा है कि उन्हें देश के संविधान के प्रति निष्ठावान बनना चाहिए न कि गृह मंत्रालय या किसी राजनीतिक पार्टी के प्रति।’’

केजरीवाल ने लिखा है कि भ्रष्ट लोग नहीं चाहते हैं कि जनलोकपाल विधेयक पास हो क्योंकि वे जानते हैं कि यह कानून बन गया तो उन्हें जेल जाने से कोई नहीं रोक पाएगा। मुख्यमंत्री ने विधेयक के प्रमुख अंशों के सार्वजनिक होने पर भी नाराजगी व्यक्त की है। गौरतलब है कि आप पार्टी के प्रवक्ता आशुतोष ने आज ही उपराज्यपाल को कांग्रेस का एजेंट करार दिया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You