राष्ट्रीय ध्वज को लेकर कांग्रेस, राकांपा और तृणमूल कांग्रेस को न्यायालय ने नोटिस भेजा

  • राष्ट्रीय ध्वज को लेकर कांग्रेस, राकांपा और तृणमूल कांग्रेस को न्यायालय ने नोटिस भेजा
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-8:47 PM
नई दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रीय ध्वज से मिलते जुलते पार्टी के ध्वज का इस्तेमाल करने से राजनीतिक दलों को रोकने के लिये दायर याचिका पर आज कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस को नोटिस जारी किये।
 
 न्यायमूर्ति बी एस चौहान और न्यायमूर्ति जे चेलामेश्वर की खंडपीठ ने राजनीतिक दलों को अपनी पार्टी के ध्वजों के लिये राष्ट्रीय ध्वज जैसे तिरंगों का इस्तेमाल रोकने के लिये दिशा निर्देश तैयार करने के बारे में केन्द्र और चुनाव आयोग से भी जवाब मांगा है।
 
 न्यायालय ने जमशेदपुर निवासी सामाजिक कार्यकर्ता अमरप्रीत सिंह खनूजा की जनहित याचिका पर प्रतिवादियों को नोटिस जारी किये। इस जनहित याचिका में अनुरोध किया गया है कि राजनीतिक दलों को अपनी पार्टी के ध्वजों और प्रतीकों के लिये राष्ट्रीय ध्वज के रंगों की नकल के इस्तेमाल से रोकने का केन्द्र को निर्देश दिया जाये।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी तो पार्टी ध्वज के लिये राष्ट्रीय ध्वज के रंगों का ही इस्तेमाल कर रही है और इसमें सिर्फ इतना ही अंतर है कि उसके ध्वज में अशोक चक्र की जगह हाथ बना हुआ है। उन्होंने कहा कि इसी तरह राकांपा और तृणमूल कांग्रेस अपने ध्वज में अशोक चक्र के स्थान पर क्रमश: ‘घड़ी’ और ‘फूल और घास’ का इस्तेमाल कर रही हैं। 
 
याचिका में कहा गया है कि देश का आम नागरिक सिर्फ तिरंगे को ही राष्ट्रीय अखंडता और एकता का प्रतीक मानता है और खुद को तिरंगे से संबद्ध करता है। इसलिए राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय ध्वज से मिलते जुलते ध्वज के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You