कांग्रेस लोकसभा चुनाव तक रोकना चाहती है विधेयक

  • कांग्रेस लोकसभा चुनाव तक रोकना चाहती है विधेयक
You Are HereNational
Saturday, February 08, 2014-12:11 AM
नई दिल्ली (अजीत के. सिंह): दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार द्वारा  दिल्ली में जनलोकपाल कानून लाए जाने को लेकर ‘आप’ और कांगे्रस के बीच मतभेद गहराते जा रहे हैं। पार्टी के सूत्रों  की मानें तो कांग्रेस लोकसभा चुनाव तक इस इस विधेयक को दिल्ली विधान सभा में नहीं आने देना चाहती, जबकि ‘आप’  हर हाल में इस विधेयक को अभी ही पास करवाना चाहती है। 
 
कांग्रेस पार्टी के सूत्र यह भी बता रहे हैं कि ‘आप’ को समर्थन जारी रखना है या नहीं कांग्रेस लोकसभा चुनाव के बाद इस पर फिर से विचार करने वाली है। ऐसे में पार्टी इस लोसभा चुनाव तक जनलोकपाल विधेयक को कैसे भी दिल्ली विधानसभा में आने से रोकना चाहती है। कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता कहते हैं ‘दरअसल दिल्ली के आप सरकार इस विधेयक के सहारे लोकप्रियता हासिल करना चाहती है।
 
इस विधेयक पर बहस के बाद इसे लोकसभा चुनाव के बाद भी पास करवाया जा सकता है। इस विधेयक को आनन-फानन में तैयार कर अब इसे जल्द ही कानून का रूप देने की कोशिश की जा रही है। इससे साफ पता चलता है कि ‘आप’  जनलोकपाल का राजनीतिक लाभ लोकसभा चुनाव में लेना चाहती है।’ 
 
सूत्रों के अनुसार अगर ‘आप’ इस मामले को ज्यादा तूल देती है, तो कांग्रेस पार्टी ‘आप’  को समर्थन जारी रखे या नहीं इस पर भी विचार कर सकती है। जनलोकपाल पर दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग ने सॉलिसिटर जनरल से भी राय मांगी थी। सॉलिसिटर जनरलन ने राय दी थी कि केंद्र सरकार की अनुमति के बिना यह जनलोकपाल कानून असंवैधानिक होगा। उप राज्यपाल द्वारा सॉलिसिटर जनरल से राय लेने पर ‘आप’ के नेता आशुतोष ने शुक्रवार को नजीब जंग को कांग्रेस का एजेंट तक कह डाला। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You