‘सूबे के पांच प्रतिशत पुलिसकर्मियों का आचरण ठीक नहीं’

  • ‘सूबे के पांच प्रतिशत पुलिसकर्मियों का आचरण ठीक नहीं’
You Are HereUttar Pradesh
Saturday, February 08, 2014-1:22 PM

बलिया: उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रिजवान अहमद ने आज कहा कि सूबे के पांच प्रतिशत पुलिसकर्मियों का आचरण ठीक नहीं है । उन्हें अपने बर्ताव में सुधार करना होगा, वरना उन्हें बर्खास्त कर दिया जाएगा।

अहमद ने अपने पैतृक गांव अवांया में आयोजित अपने अभिनन्दन समारोह से इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पुलिस विभाग में पांच प्रतिशत कर्मी ऐसे हैं जिनका आचरण सही नहीं हैं। उन्हें सुधार करना चाहिए, वरना उन्हें हटा दिया जाएगा...ठीक उसी तरह जिस तरीके से कैंसर से ग्रस्त अंग को काटकर शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है।

उन्होंने स्वीकार किया कि पुलिस के प्रति आम जनता की धारणा अच्छी नहीं है। पुलिस को अपने आचरण में बदलाव कर जनता का भरोसा जीतना चाहिए। लोग न्याय के लिए ही पुलिस के पास जाते हैं और अगर पुलिस ही फरियादी की बात ठीक ढंग से नहीं सुनेगी और न्याय नहीं दिलाएगी तो जनता किसके पास जाएगी। अहमद ने कहा कि पुलिस को जाति-धर्म के भेदभाव के बगैर अपना काम करना चाहिए। पक्षपातपूर्ण कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए।

राज्य के पुलिस प्रमुख ने कहा कि प्रदेश के 21 हजार कांस्टेबलों को हेड कांस्टेबल पद पर 15 फरवरी तक पदोन्नत कर दिया जाएगा। पुलिस का मनोबल बढ़ाने के लिये यह कदम उठाया जा रहा है।

अहमद ने कहा कि पूरे प्रदेश में इंटरनेट के जरिये मुकदमा दर्ज कराने की सुविधा बहुत जल्द शुरू होगी। उन्होंने कहा कि महिला हेल्पलाइन 1090 पर अब मोबाइल फोन चोरी होने की सूचना भी दर्ज करायी जा सकेगी। यह सुविधा एक हफ्ते के अंदर शुरू कर दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You