Subscribe Now!

सोमवार को जिला अदालतों में होगी हड़ताल

  • सोमवार को जिला अदालतों में होगी हड़ताल
You Are HereNational
Saturday, February 08, 2014-5:44 PM

नई दिल्ली(सतेन्द्र त्रिपाठी): कड़कडड़ूमा कोर्ट से फैमिली कोर्ट शिफ्ट किए जाने के विरोध में अब दिल्ली की सभी जिला अदालतों  के  वकील साथ आ गए हैं। सभी जिला अदालतों की बार ने फैसला किया है कि सोमवार को वह लोग भी हड़ताल में शामिल हो जाएंगे। इसके चलते सोमवार को किसी भी जिला अदालत में कोई काम-काज नहीं होने की उम्मीद है। इधर शुक्रवार को भी कड़कडड़ूमा कोर्ट में हड़ताल के चलते कोई काम नहीं हो पाया। हड़ताल के लगातार दो दिन चलने से लोगों को तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अभी हड़ताल जल्द खत्म होने के कोई आसार भी नजर नहीं  आ रहे है। 

शाहदरा बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को भी कड़कडड़ूमा कोर्ट में पूरी हड़ताल रही। अदालत में कोई काम नहीं होने से आम लोगों को बड़ी दिक्कतें पेश आ रही है। इन दिक्कतों को देखते हुए हाईकोर्ट को इस बारे में जल्द से जल्द कोई फैसला लेना चाहिए। अगर वकीलों की मांग न मानी गई तो हड़ताल जल्द खत्म होने के कोई आसार नहीं है। कोई भी वकील किसी भी कोर्ट में पेश नहीं हुआ। लिहाजा सबको अगली तारीख मिल गई। 

उपाध्यक्ष महेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि कड़कड़ड़ूमा अदालत के वकीलों के समर्थन में दिल्ली की सभी जिला अदालतों के वकील भी आ गए है। इनमें पटियाला हाउस, तीस हजारी, साकेत, रोहिणी, द्वारका बार भी सोमवार को हड़ताल रखने की घोषणा की है। जिला अदालतों की समन्वय समिति की बैठक में शुक्रवार की शाम यह फैसला हुआ। दो दिन से लगातार वकील हड़ताल पर बैठे है। लेकिन उन्हें कोई आश्वासन तक नहीं मिला है। इधर बताया जा रहा है कि हाईकोर्ट ने ड्रिस्ट्रिक जज से रिपोर्ट मांगी है कि  कड़कडड़ूमा कोर्ट में कितने कमरे खाली है। इस पूरे मामले में फैसला लेने के लिए दस दिन का समय लगने की उम्मीद है, लेकिन वकील इतना समय देने को तैयार नहीं है। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You