स्वराज बिल : हर वार्ड में 10 मोहल्ला सभा

  • स्वराज बिल : हर वार्ड में 10 मोहल्ला सभा
You Are HereNational
Sunday, February 09, 2014-12:10 AM
 नई दिल्ली (ताहिर सिद्दीकी):आम आदमी पार्टी की सरकार जनलोकपाल बिल को कैबिनेट में पारित करने के बाद स्वराज बिल के मसौदे को अंतिम रूप देकर अपने विरोधियों पर बढ़त बनाने की कोशिशों में जुटी है। 
 
सरकार का कहना है कि बिल का प्रारूप अंतिम चरण में है तथा अगले कुछ दिनों में इसका फाइनल ड्राफ्ट तैयार कर लिया जाएगा। इस बिल को भी बिना केंद्र सरकार की अनुमति लिए विधानसभा में पेश करने की तैयारी है। स्वराज बिल को बनाने में परामर्शदाता की भूमिका निभा रहे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव एस.सी.बेहर ने बताया कि एक वार्ड में 10 मोहल्ला सभाएं होंगी।
 
 हरेक मोहल्ला सभा में 2 महिला व 2 पुरुष सदस्य होंगे। इस बिल के लागू होने पर सीधे मोहल्ला सभाओं को विकास कार्यों के लिए अधिकृत कर दिया जाएगा। मोहल्ला सभाओं का बजट 600 करोड़ रुपए का होगा। इसका प्रभाव 20 वर्षों से लागू विधायक फंड पर पड़ेगा। दिल्ली स्वराज बिल- 2014 के मसौदे के अनुसार राजधानी में 2,720 मोहल्ला सभाएं गठित की जाएंगी।  प्रत्येक नगर निगम के वार्ड में 10 मोहल्ला सभा गठित करने का प्रावधान होगा।
 
 हर सभा में 4 प्रतिनिधि होंगे जो जनता द्वारा चुने जाएंगे। महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए हर मोहल्ला सभा में 2 महिला व 2 पुरुष प्रतिनिधि होंगे।  मसौदे को जल्द ही मंत्रिमंडल के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। सड़क की मरम्मत, पार्कों की देख-रेख व रख-रखाव, नालियों या सीवर की सफाई जैसे स्थानीय कार्य सभाओं में लाकर उसे अंतिम रूप दिया जा सकेगा। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You